piyush goyal

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने नौ राज्यों के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर उनसे आग्रह किया है कि ‘डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर’ प्रोजेक्ट में बाधाओं को दूर करें। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रोजेक्ट पर करीबी नजर रख रहे हैं।

केंद्र की मोदी सरकार ने बीते साल 2019 में आज ही के दिन यानी 5 अगस्त को जम्‍मू और कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 (Article 370) खत्म कर दिया था। इस अनच्छेद के हटाए जाने की पहली वर्षगांठ है।

भारतीय रेलवे में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। ट्रेने अब पूरी तरीके से बिजली से संचालित होंगी। सीआईआई के एक कार्यक्रम में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने जानकारी दी कि आगामी साल 2024 तक रेलवे 100 फीसदी बिजली से चलने वाला रेल नेटवर्क होगा।

पीयूष गोयल ने कहा कि वह भारत में विदेशी फिल्मों की शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकारों से बात करेंगे, जिससे कि निर्माता किसी दूसरे विदेशी स्थान पर न जाने की बजाय भारत आएं और शूटिंग करें।

रेल मंत्री पीयूष गोयल की मां चंद्रकांता गोयल का शनिवार को निधन हो गया है। यह जानकारी रेल मंत्री ने खुद ट्वीट कर दी है। पीयूष गोयल ने ट्विटर लिखा कि 'अपने स्नेह, और प्रेम से मुझे हमेशा राह दिखाने वाली मेरी पूज्य माता जी का आज सुबह स्वर्गवास हो गया।

उद्धव ठाकरे और पीयूष गोयल के बीच ट्रेन की कमी को लेकर ट्विटर वॉर शुरु हो गया हैं। महाराष्ट्र सरकार यात्रियों की नई लिस्ट तैयार कर रही है। इस लिस्ट के जरिए महाराष्ट्र सरकार केंद्र से ज्यादा ट्रेनों की मांग करेगी। पीयूष गोयल के ट्वीट के बाद सूची बनाने की तैयारी हो रही है।

कोरोना संकट के बीच रेलवे ने अहम फैसला लिया है। 1 जून से रेलवे 200 नॉन-एयरकंडीशंड स्‍पेशल ट्रेनें चलाने जा रहा है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इसकी घोषणा की है। अब भारतीय रेलवे ने इन ट्रेनों की लिस्ट जारी कर दी है।

श्रमिक स्पेशल और राजधानी स्पेशल ट्रेन चलाने के बाद अब रेलवे देश भर में मेल एक्सप्रेस ट्रेन भी चलाने की तैयारी कर ली है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एलान किया है कि आगामी 1 जून से हर रोज 200 स्पेशल ट्रेनें टाइम टेबल के हिसाब से चलेंगी।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए बड़ा एलान किया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय रेलवे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए किसी भी जिले से 'श्रमिक स्पेशल' ट्रेन चलाने को तैयार है।

गहलोत ने रेलमंत्री पीयूष गोयल के उस बयान को सरासर गलत बताया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि राजस्थान सरकार श्रमिक ट्रेनों की अनुमति नहीं दे रही है।