planets

मंगलवार को एक दुर्लभ खगोलीय घटना घटी जिसका असर आने वाले सात दिनों में दिखेगा। मंगलवार को मंगल ग्रह चंद्रमा के नजदीक पहुच गया। मंगल और चंद्रमा की नजदीकी की वजह से पृथ्वी पर मौसम में उमस और गर्मी बढ़ने की संभावना है।

सहारनपुर: बुध ग्रह को ग्रहों में राजकुमार की उपाधि दी गई है। बुध ग्रह को भगवान विष्णु का प्रतिनिधि कहा जा सकता है। इसीलिए धन, वैभव आदि का संबंध बुध से है। बुध की दिशा उत्तर है तथा उत्तर दिशा कुबेर का स्थान भी है। बुध से जु़डा सर्वाधिक महत्वपूर्ण गुण धर्म है। अनुकूलनशीलता हर …

लखनऊ: शुक्र को भौतिक सुख, प्रेम, विवाह, वासना और कला आदि का कारक ग्रह माना गया है। शुक्र का स्वरूप अति सुन्दर तथा मनमोहक है इसलिए शुक्र को सौन्दर्य का प्रतीक भी माना जाता है। शुक्र वृषभ और तुला राशि का स्वामी है और मीन राशि में उच्च भाव में तथा कन्या राशि में नीच …

लखनऊ: ज्योतिष शास्त्र  में पंचक को अशुभ माना गया है। इसमें  धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तरा भाद्रपद, पूर्वा भाद्रपद व रेवती नक्षत्र आते हैं। पंचक के दौरान कुछ विशेष काम नहीं किए जाते हैं। इस बार शनिवार (25 मार्च) की सुबह लगभग 4 बजे से पंचक शुरू होगा, जो 29 मार्च, बुधवार की दोपहर लगभग 01.07 तक …

लखनऊ: होली का त्योहार आ चुका है। सत्ता भी आ चुकी है। अब समय है मन की बुराइयों और द्वेषों को जलाने का। हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल होलिका दहन 12 मार्च को शाम 6:30 बजे से 8:35 तक किया जा सकता है। हिंदू धर्म ग्रंथ के अनुसार, होलिका दहन सूर्यास्त के बाद जब …

  लखनऊ:  वैदिक ज्योतिष में बुध को एक शुभ फल देने वाला ग्रह माना जाता है। बुध ग्रह बुद्धि, संचार, विज्ञान, व्यापार और अनुसंधान आदि का प्रतिनिधित्व करता है। बुध के शुभ प्रभाव से इन क्षेत्रों में तरक्की मिलती है। सामान्यत: बुध शुभ फल देने वाला ग्रह है लेकिन कुंडली में किसी विपरीत ग्रह के संगम से यह …

   लखनऊ: वैदिक ज्योतिष में मंगल ग्रह को हानिकारक माना जाता है। मंगल ग्रह अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करता है इसलिए इसे अंगारक (अंगारे जैसा रक्त वर्ण), भौम यानि भूमि पुत्र भी कहा जाता है। मंगल को युद्ध का देवता भी कहा जाता है। मंगल ग्रह शारीरिक ऊर्जा, आत्म विश्वास, अहंकार, क्रोध, वीरता और साहस …

लखनऊ: सौर मंडल में बुध ग्रह सबसे छोटा ग्रह है और सूर्य के सबसे निकट रहने वाला ग्रह है। बुध देव ज्ञान, संचार और अभिव्यक्ति के स्वामी माने जाते हैं। बुध देव का धनु राशि में गोचर होने वाला है। बुध देव 28 नवंबर से वृश्चिक राशि से चलकर धनु राशि में प्रवेश कर चुके …

लखनऊ: मनुष्य के जीवन में पेड़ पौधों और फूलों का बहुत ही महत्व होता है। यह महत्व केवल घर आंगन को सजाने तक ही सीमित नहीं है। कई वेराइटी के फूलों की खुशबू जहां हमें तरोताजा करती है,  वहीं फूलों का उपयोग हम घर और दुकान की पॉजिटिव एनर्जी को बढ़ाने के लिए भी  कर सकते …

लखनऊ: सूर्य करीब 30 दिन एक राशि में रहते हैं और विभिन्न प्रकार के फल प्रदान करते हैं। आइए, जानते हैं कि सूर्य के तुला राशि में प्रवेश का विभिन्न राशियों पर क्या प्रभाव रहेगा। निम्नलिखित फलादेश चन्द्र राशि के अनुसार हैं। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें मेष,वृष, मिथुन और कन्या राशि के बारे में…