pm kisan samman nidhi yojana

इतना बड़ा घोटाला आने के बाद सरकार सतर्क हो चुकी है और सरकार ने साफ तो पर संकेत दिए हैं कि जो भी इस योजना के हकदार नहीं हैं, उन्हें पैसा नहीं मिलेगा। वहीं अगर किसी तरह से इस योजना के तहत लाभ ले लिया गया है तो उसे वापस लिया जाएगा।

किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री ने बड़ा कदम उठाया है। कृषि मंत्रालय ने देशभर में 14 करोड़ मार्जिनल किसानों के नामांकन के अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय के तहत डिजिटल कियोस्क या कॉमन सर्विसेज सेंटर्स के साथ करार किया है।

देश की सबसे बड़ी योजना मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के पहले स्टेप में 13 लाख 60 हजार 380 किसानों ने फायदा उठा लिया है। इस योजना के तहत इन किसानों के बैंक अकाउंट में डीबीटी के जरिए से 442 करोड़ रुपये की राशि भेजी गई है।

बता दें कि जिन कसानों का रजिस्ट्रेशन चुनाव आचार संहिता लगने से पहले हो चुका था। उन्हीं के खातों में दूसरी किस्त का पैसा आयेगा। ऐसे में हो सकता है कि सत्ता में आसीन केंद्र की बीजेपी सरकार को लोकसभा चुनाव में इसका कुछ फायदा देखने को मिल सकता है।

चुनाव आयोग के नये दिशानिर्देश के अनुसार उत्तर प्रदेश के 47 लाख किसानों के लिए अच्छी खबर है। चुनाव आचार सहिंता लागू होने के बाद भी उन किसानो को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधी योजना के अंतर्गत दूसरी किश्त दी जाएगी जिनको पहली किश्त मिल चुकी है।