pnb

केन्द्र की मोदी सरकार ने मंगलवार को राज्यसभा में एक बड़ा ऐलान किया है। खबर है कि मोदी सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्रों के विभिन्न बैंकों के विलय से नौकरियां जाने की आशंका को खारिज किया है।

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के 9100 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी केस के मुख्य आरोपी और हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने धमकी दी है कि अगर उसे प्रत्यर्पित कर भारत भेजा गया तो वह आत्महत्या कर लेगा।

ज्ञात हो कि पीएमसी बैंक के दो खाताधारकों की हार्टअटैक से मौत हो गई थी, इसके बाद कोर्ट के बाहर इकट्ठा हुए खाताधारकों ने बैंक प्रबंधन के खिलाफ नारे लगाए और विरोध किया। विरोध के दौरान प्रदर्शनकारियों ने अपने पैसे वापस किए जाने की मांग की है।

बैंको के विलय के बाद बैंक किसी इलाके में दो ब्रांच होने पर एक को बंद कर सकता है। बैंक में विलय हो रहे बैंकों के जारी क्रेडिट/डेबिट कार्ड को बदलना पड़ सकता है।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अभी तक बैंकों में अलग-अलग समय काम शुरू करने के लिए कहा गया था। इसके साथ ही 6 घंटे की बैंकिंग की अनिवार्यता के चलते काम खत्म करने का समय भी अलग था। इसे एक समान कर शाम 4 बजे तक कर दिया गया है।

अक्टूबर के महीनें में अगर आपके बहुत जरूर काम हो तो कैलेंडर देख कर ही बैंक जाने का निर्णय करें। ये जानकारी इसलिए दी जा रही है क्योंकि अक्टूबर के महीनें में 11 दिन बैंक बंद रहेगी। तो यदि आपका बेहद महत्वपूर्ण कोई काम है तो उसे बैंक की छुट्टी से पहले ही निपटा लें।

केंद्र सरकार द्वारा लिए गए बैंकों के विलय के फैसले पर होने वाले विलय की प्रक्रिया अगले साल 1 अप्रैल तक पूरा हो जाएगी। इन बैंकों में यूनाईटेड बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के विलय के बाद नाम भी बदल जाएगा।

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ने जानकारी देते हुए बताया कि दोनों कारोबारियों ने उसकी मुंबई स्थित शाखा से 289 करोड़ का लोन लिया था। नोटिस के मुताबिक नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड व फायरस्टार डायमंड प्रा. लि. ने

आपके लिए एक बड़ी खबर है अगर आप पंजाब नेशनल बैंक या एचडीएफसी बैंक के ग्राहक हैं तो आपको ये सूचना जानना ज़रूरी है। आज कल बैंकों में फिक्ड्य डिपॉजिट के जरिए निवेश करने वाले ग्राहकों के लिए एक नियम बदल गया है। इस चेंज से लाखों ग्राहकों पर असर पड़ सकता है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक के विलय का ऐलान किया। इस विलय के बाद पीएनबी देश का दूसरा बड़ा सरकारी बैंक बन जाएगा। इसके अलावा निर्मला सीतारमण ने केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक के विलय का भी ऐलान किया।