PPE Kits

कोरोना वायरस संकट में भारत अब किसी और देश पर निर्भर होने की बजाए अब खुद से उन उत्पादों का निर्माण कर रहा है। इस बीच अब भारत ने पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (PPE) किट की सप्लाई के लिए हरी झंड़ी दे दी है।

प्रथम पहल एवं भारत विकास परिषद विवेकानंद शाखा के संयुक्त तत्वाधान में मेडिकल कॉलेज की प्रधानाचार्या एवं डीन डॉक्टर एनएस सेंगर को कोरोना वॉरियर्स एवं डॉक्टर्स को उनकी सुरक्षा के लिए 36 पीपीई किट दी गई।

कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण लागू लाकडाउन से जहां देश के उद्योग-धंधों को खासा नुकसान पहुंचा है तो वहीं कुछ ऐसे नए उत्पादों के उद्योग भी शुरू हुए है, जिनकी संख्या देश में नही के बराबर थीे।

कोरोना वायरस काल में विभिन्न मोर्चों पर योगदान दे रही मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अब चीन से तीन गुना सस्ती और बेजोड़ गुणवत्ता वाली पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (PPE) बनानी शुरू कर दी है।

कोरोना वायरस के संकट से लोगों को बचाने की कोशिश में जुटे डॉक्टर रात दिन काम कर रहे हैं। लगातार काम वह भी पीपीई किट पहने हुये। ये कोई आसान काम नहीं है। डाक्टर कहते हैं कि वायरस बचाव के लिए जरूरी पीपीई किट हमेशा पहने रहना पड़ता है।

आंध्र प्रदेश सरकार के खिलाफ टिप्पणी को लेकर एक सरकारी डॉक्टर को निलंबित कर दिया गया। इसी को लेकर वह डॉक्टर सरकार के खिलाफ लामबंद हो गए।

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में आज अवैध तरीके से पीपीई किट का निर्माण करने वाली एक फैक्ट्री को सील कर दिया गया। जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र, मेरठ के उपायुक्त उद्योग वी के कौशल ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इस फैक्ट्री में पीपीई किट का निर्माण अवैध तरीके से किया जा रहा था।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए एचसीएल प्रदेश सरकार को एक लाख पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट (पीपीई) किट उपलब्ध कराएगा। इसमें 32 हजार किट का आॅर्डर नोएडा की तीन गारमेंट्स मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को दिया गया है।

पीपीई किट मेडिकल स्टाफ और अन्य फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने में मदद करता है। यूपी मेडिकल सप्लाई कॉरपोरेशन की घटिया दवा के बाद अब पीपीई किट भी सवालों के घेरे में आ गई है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी के देश में कोरोना की जांच करने वाली किट की कमी का मुद्दा उठाए जाने के बाद यह मामला फिर गरमा गया है। वैसे स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर का कहना है कि देश में टेस्टिंग किट्स की कोई कमी नहीं है।