prasad

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद को व्यवस्था को प्रभावित करने का माहिर

लखनऊ: यूपी के नए मुख्यमंत्री के फेस के लिए कई दिनों तक कई नामों पर चर्चाएं चली और अंत में गोरक्षपीठ के पीठाधीश्वर महंत योगी आदित्यनाथ को यूपी का सीएम बनाय गया। बीजेपी सरकार में दो डिप्टी सीएम भी बनाएं गए। जिसमें बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और लखनऊ के मेयर डॉ. दिनेश शर्मा …

उज्जैन: जैसे ही नवरात्रि के पावन दिन शुरू होते हैं, देवी मां के भक्त मांस-मछली और शराब जैसी चीजों को त्याग देते हैं। उनका मानना है कि वह देवी मां के दिनों में पूरी तरह से श्रद्धा और पवित्रता के साथ रखेंगे। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हमारे ही देश में देवी मां …

गोरखपुर: हिंदू धर्म में देवी-देवता और उनके मंदिरों का बहुत महत्व है। खुशी और गम दोनों में इस धर्म के लोग ईश्वर के प्रति अटूट आस्था रखते है। चाहे कोई भी बात हो हिंदूधर्मावलंबियों के लिए मंदिर जाना जरूरी होता है। मंदिर में मिलने वाले प्रसाद को  वे अमृत की समान मानते है। जब हम …

लखनऊ: अगर नवरात्रि में कुछ भूल चूक हो गई हो तो कोई बात नहीं, अभी नवरात्रि के महत्वपूर्ण उत्तम दिन आने वाले हैं। गुरुवार से पंचमी तिथि शुरू हो रही है। आप अपनी राशि के अनुसार मां के चरण में ये चीजें अर्पित कर सकती है।  नवरात्रि मां के श्रीचरण में नौ दिन अलग-अलग ये …

नई दिल्‍ली: बसपा के पूर्व महासचिव और वफादार नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने सोमवार को बीजेपी की सदस्यता ले ली है। यूपी बीजेपी प्रभारी ओम माथुर ने स्‍वामी प्रसाद मौर्या को सदस्‍यता दिलाई। दिल्ली बीजेपी मुख्‍यालय पर पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह की उपस्थित में मौर्या ने बीजेपी ज्‍वॉइन की। बीजेपी के लिए यूपी चुनाव 2017 …

लखनऊ: शनिवार को मायावती के आरोपों के बाद पूर्व बीएसपी नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने भी पलटवार किया है। माैर्या ने कहा कि मेरे जाने से मायावती घबरा गई हैं। उनका जनाधार खिसक रहा है। अब उनका राजनैतिक कैरियर खत्‍म हाेने के कगार पर है। मायावती के खिलाफ कार्यकर्ताओं ने नाराजगी है। बाबा साहब के मिशन को मायावती …

कौशाम्बी: 51शक्ति पीठों में से एक सिद्ध पीठ मां शीतला का मंदिर कौशाम्बी जिले के कडा धाम में है। इसे कडा धाम भी कहते हैं। गंगा नदी किनारे स्थापित इस मंदिर में मां शीतला के दर्शन के लिए देश के कोने-कोने से भक्तगण आते है। कहा जाता है कि इस स्थान पर देवी सती का …

बंधू सिंह गुरिल्ला लड़ाई में माहिर थे और अंग्रेजों से नफरत करते थे । जब भी कोई अंग्रेज जगंल से गुजरता तो वे उसे मार डालते और उसके सर देवी मां को चढ़ा देते। जब अंग्रेजों को इस बात का पता लगा तो उन्हें फांसी की सजा सुनाई गयी। 12 अगस्त 1857 को गोरखपुर में अली नगर चौराहा पर सार्वजनिक रूप से फांसी पर लटकाया गया। कहा जाता है कि अंग्रेजों ने उन्हें 6 बार फांसी पर चढ़ाने की कोशिश की, लेकिन वे नाकाम रहे...