principal

जनपद बागपत के फैजपुर निनाना गांव के चौधरी चरण सिंह वैदिक इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य द्वारा छात्रा से छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। गुस्साए परिजनों ने ग्रामीणों के साथ सोमवार को स्कूल पहुंचकर जमकर हंगामा किया।

आर्टिकल 370 को जम्मू-कश्मीर से हटाए जाने के बाद आएदिन पाकिस्तान का कोई न कोई नया रुप देखने को मिल रहा है। पाकिस्तान से सिंध के घोटकी में हिंदू समुदाय के स्कूल प्रिंसिपल को इशनिंदा के झूठे आरोप में फंसाने का मामला सामने आया है।

सरकारी मेडिकल कॉलेजों के लिए एक अच्छी खबर है। अब 62 साल की उम्र तक के डॉक्टर सरकारी मेडिकल कॉलेज में प्रिंसिपल बन सकेंगे। उत्तर प्रदेश में अभी 13 सरकारी मेडिकल कॉलेज हैं जबकि 13 अन्य खुलने वाले हैं। प्रदेश में चिकित्सा शिक्षकों की भारी कमी है। मेडिकल कॉलेजों में भर्ती के लिए आयु सीमा सहित कई तरह के प्रावधानों में बदलाव किया है।

आप ये खबर पढ़कर चौंक जाएंगे। कोई सोंच भी नहीं सकता कि जिस स्‍कूल का नाम देश में अनुशासन और स्‍टडी करिकुलम के लिए टॉप 10 में शामिल हो। उस स्‍कूल में प्रिंसपल जैसे अहम पद पर विराजमान व्‍यक्ति छात्राओं से शर्मिंदा कर देने वाली घिनौनी हरक

तेज प्रताप सिंह गोंडा। सुविधाओं का अभाव, गंदगी और अव्यवस्थाओं का अंबार सरकारी स्कूलों की पहचान बन चुका है मगर जिले के धौरहरा प्राथमिक विद्यालय को देखकर आपकी धारणा पूरी तरह बदल जाएगी। यहां के प्रधानाध्यापक रविप्रताप सिंह ने अपनी मेहनत के बल पर महज चार साल में इस विद्यालय को कॉन्वेंट स्कूल की टक्कर …

कानपुर: कहते हैं कि एक अच्छे राष्ट्र के निर्माण में अध्यापकों का बहुत योगदान होता है क्योंकि वो ही देश के भविष्य यानि की नौनिहालों को अच्छी शिक्षा देते हैं। लेकिन आज हम एक ऐसे अध्यापक का चेहरा दिखाने जा रहे हैं, जिसे देखकर आपको शर्म के साथ-साथ क्रोध भी आएगा क्योंकि ऐसे अध्यापक हमारे …

शाहजहांपुर: यूपी के शाहजहांपुर में उस समय हड़कंप मच गया, जब प्राथमिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के लिए बनने वाले मिड डे मील के राशन में संदिग्ध सफेद पाउडर पड़ा मिला। जिसके बाद स्कूल के रसोइये से लेकर टीचर और प्रधानाध्यापक के बीच खलबली पड़ गई। प्रधानाध्यापक ने इसकी सूचना सबसे पहले बीएसए और …

गोरखपुर: बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में एक के बाद एक 60 मासूमों की मौतों ने देश भर के लोगों को सकते में ला दिया है। ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। BRD हॉस्पिटल को ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी का कहना है कि पेमेंट को लेकर हॉस्पिटल को अवगत करवाया गया …

ललित ने उन्‍हें बताया कि फादर ने उसकी गलती न होते हुए भी बहुत इंसल्‍ट की है। इसके बाद ललित ने बेइज्‍जती के सदमे से परेशान होकर घर में पिता की लाइसेंसी पिस्‍टल से दाहिनी तरफ कनपटी पर गोली मार ली।

कॉलेज ने शैक्षिक सत्र 2017-18 में दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो गई है। लॉ मार्टीनियर ब्वॉयज कॉलेज में नर्सरी एडमिशन के लिए एप्लिकेशन फॉर्म 1 नवंबर से मिलना शुरू होंगे। आपको बता दें कि इस बार कॉलेज प्रशासन ने आवेदन फार्म की कीमत तीगुनी कर दी है। पिछले साल इसकी कीमत 1500 रुपए थी, जो अब बढ़कर 5000 हो गई है।