public sector banks

अगले महीने यानी 1 अप्रैल 2020 देश के बैंकिंग सेक्टर में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। 1 अप्रैल से 10 बड़े सरकारी बैंकों का विलय होना है। PM मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में बैंकों के विलय को मंजूरी दे दी गई है।

बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी खबर हैं। दरअसल, आपके बैंक का नाम बदलने वाला है। मिली जानकारी के मुताबिक, जल्द ही सरकारी बैंकों का बड़े बैंक में विलय हो जाएगा।

एक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (AICPI) के आंकड़ों के मुताबिक इस साल जून में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 7212.98, अप्रैल में 7121.68 और मई यह बढ़कर 7167.33 था । इन आंकडों पर गौर करने के बाद सरकार ने डीएम में 3.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का फैसला किया ।

वित्त वर्ष 2019-20 का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की गैर निष्पादित आस्तियों (एनपीए) में एक लाख करोड़ रुपये की कमी आई है।

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 11,300 करोड़ रुपए के घोटाले के सिलसिले में भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) ने रविवार (25 फरवरी) को वित्तीय धोखाधड़ी रोकने के लिए बेहतर व उच्च प्रौद्योगिकी नियंत्रण प्रणाली की मांग की है। सीआईआई ने कहा, कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी) में सरकार को अपनी हिस्सेदारी कम करनी …

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक भारी नॉन परफॉर्मिंग ऐसेट (NPA) के चलते दबाव में हैं। वित्त मंत्रालय ने अब इन बैंकों को सलाह दी है कि वह अपनी वित्तीय स्थिति को सुदृढ़ करने के लिए उन घरेलू और अन्तर्राष्ट्रीय शाखाओं को जो घाटे में चल रहीं हैं उन्हें बंद करें।