quran

इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक रमजान के बाद 10वें शव्वाल की पहली तारीख को ईद-उल-फितर का त्योहार मनाया जाता है। ईद कब मनायी जाएगी यह चांद के दीदार से तय होती है।

चीन पूरी दुनिया में शांति की बात करता है, लेकिन उसकी सच्चाई अब सबके सामने आ गई है। चीन में उईगर मुस्लमानों के ऊपर कई अत्याचार किए जा रहे हैं जो अब दुनिया से छिपा नहीं है। उईगर मुस्लिमों को हिरासत शिविर में डालकर उन पर अत्याचार किए जा रहे हैं।

नॉर्वे के क्रिस्टियानसैंड शहर में प्रदर्शन के दौरान पवित्र कुरान जलाने का मामले सामने आया है। इसके लेकर पाकिस्तान ने नाराजगी जताई और नॉर्वे के राजदूत केजेल गन्नार एरिकसन को समन किया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इस घटना को लेकर सरकार और पाकिस्तान के लोगों की तरफ से चिंता जताई है।

मगर खास बात ये है कि हिंदू धर्म में किसी काम की शुरूआत श्री गणेशाय नम: के साथ की जाती है। सुमेर चंद नाम के एक लेखक ने तीन सौ वर्ष पहले इस रामायण का अनुवाद संस्कृत से फारसी में किया था।

शुक्रवार को संसद में तीन तलाक बिल पेश किया गया। इस पर जमकर बहस भी हुई। कोई इस बिल का समर्थन करता नजर आ रहा है तो कोई इसे मुस्लिम विरोधी बता रहा है।

आजम खान ने कहा, 'जो मुसलमान हैं, जो कुरान को मानते हैं, वे जानते हैं कि तलाक का पूरा प्रसीजर कुरान में दिया गया है। हमारे लिए उस प्रसीजर के अलावा कोई कानून मान्य नहीं है। सिर्फ कुरान का कानून ही मुसलमानों के लिए मान्य है।'

सहारनपुर : विश्व प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम देवबंद के मोहतमिम मौलाना अबुल कासिम नौमानी ने कहा कि दारुल उलूम के कुछ फतवों को लेकर इन दिनों प्रिंट व इलैक्ट्रॉनिक मीडिया में बहस छिड़ी हुई है। फतवों को विवादित रूप में पेश कर कोशिश की जा रही है कि दारुल उलूम फतवा देना बंद …

18 महीने के लम्बे इंतज़ार के बाद “एक बैठक में तीन तलाक़” के मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने आखिरकार बड़ा फैसला सुना ही दिया। सुप्रीम कोर्ट की 5 जजों की बेंच ने 3:2 के मत से तीन तलाक के खिलाफ फैसला सुनाया और इसे असंवैधानिक बताते हुए कहा कि “इससे मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का उल्लंघन होता है”। परन्तु इस …

रामेश्वरम: वो जबतक जीवित रहे, किसी विवाद में उनका नाम नहीं आया। देश में रहने वाला कोई भी व्यक्ति वो चाहे किसी भी धर्मं या जाति का हो, उन्हें आदर और सम्मान देता रहा। न कभी किसी ने उनके लिए बुरा कहा और न ही सुना। अब उन्हीं पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के …

नई दिल्ली : देश में तीन तलाक पर जारी बहस के बीच अहमदिया संप्रदाय ने इसे कुरान और सुन्नत के खिलाफ बताते हुए कहा कि इसका समर्थन करने वाले मौलवियों पर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। जमाअत अहमदिया मुस्लिमा के प्रवक्ता के. तारिक अहमद ने कहा कि पति द्वारा पत्नी को एक ही बार में तीन …