rahul gandhi

मनमोहन सिंह ने कहा, 'कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कांग्रेस पार्टी देश के साथ एकजुट होकर खड़ी है।' इस दौरान सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने भी अपनी-अपनी बातें रखी।

पूरा देश इस समय कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने देश भर में लॉक डाउन की घोषणा की है। मुसीबत की इस घड़ी में फिल्म जगत से लेकर उद्योग और राजनीति की कई बड़ी शख्सियतों ने मदद के लिए प्रधान मंत्री राहत कोष में दान किया है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के एक गुरुद्वारा पर हमले में 25 लोगों के मारे जाने पर बुधवार को दुख जताया। इसके साथ ही उन्होंने घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की।

कोरोना वायरस का खतरा देश भर में बढ़ता ही जा रहा है। जिससे निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा महत्वपूर्ण कदम उठाये जा रहें हैं। वही इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर जरूरी मेडिकल सुविधाओं का निर्यात करने का आरोप लगाया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए 22 मार्च यानी कि आज जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था। जहां पूरा देश जनता कर्फ्यू का पालन कर रहा है और कोरोना से बचने के प्रयास में लगा है, वहीं इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना वायरस की वजह से कमजोर हुई भारतीय अर्थव्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

दुनिया के साथ ही भारत में भी कोरोना वायरस से खौफ का माहौल है। इस वायरस की मार देश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ रही है। इससे निपटने के लिए भारत सरकार की ओर से तमाम प्रयास किए जा रहे हैं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को सरकार पर कोरोना वायरस को लेकर निर्णायक कदम नहीं उठाने का आरोप लगाया और कहा कि उसकी ‘अक्षमता’ की भारत को..

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को दावा किया कि देश में आर्थिक तबाही आ रही है, लेकिन सरकार कुछ ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर यही स्थिति रहती है तो अगले छह महीनों में देश के लोगों को ‘अकल्पनीय पीड़ा' का सामना पड़ेगा।