railway station

खबर मध्य प्रदेश के भोपाल से है, जहां पर रेलवे स्टेशन पर बड़ा हादसा हो गया। भोपाल के रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 3 पर ओवरब्रिज की सीढ़ियां गिर गई। इस हादसे में एक व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई है।

पश्चिम बंगाल के बर्धमान रेलवे स्टेशन पर बड़ा हादसा हुआ है। यहां एक हिस्सा देर शाम क्षतिग्रस्त होकर गिर गया है। स्टेशन के प्रवेश द्वार के पास हुए इस हादसे में कई यात्रियों के मलबे में दबे होने की आशंका है। घटना के बाद रेलवे के बड़े अधिकारी और स्थानीय प्रशासन के लोग मौके पर पहुंच गए हैं।

नागरिकता संशोधन कानून 2019 के विरोध में पूर्वोत्‍तर भारत से भड़की हिंसा अब पूरे देश में फैल गई है। नॉर्थ ईस्‍ट और पश्चिम बंगाल में प्रदर्शनकारियों ने जमकर हिंसा की है और वहां अभी भी हालात तनावपूर्ण हैं।

रेलवे स्टेशन पर हादसे को लेकर बड़ी खबर आ रही है। शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में बर्दवान रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मच गई। स्टेशन पर मची भगदड़ से 11 यात्री गंभीर रुप से घायल हो गए।

अपने नाम की तरह ही तमाम सुविधाओं के लिहाज़ से भी यह रेलवे स्टेशन सिकंदर की तरह है। भारत के पहले प्लेटिनम स्टैंडर्ड की रेटिंग हासिल कर चुके सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर कई ऐसी सुविधाएं शुरू की गई हैं जो देश में कहीं और नहीं है। अब यहां स्टेशन को प्लास्टिक मूक्‍त करने की भी पूरी तैयारी है।

यूपी के बरेली में इज्जतनगर के बहेड़ी स्टेशन पर एक टिकट देने वाले बाबू के कारनामों से उनके अफसर भी अब परेशान हो चुके हैं। रेलवे के टिकट बाबू से परेशान होकर एक अफसर ने तो रेलवे मंडल के उच्च अधिकारी को पत्र भी लिख दिया है।

लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन से यात्रियों की सुविधा के लिए एक बार फिर प्रीपेड ऑटो सेवा शुरू होने जा रही है। इसके लिए 300 प्रीपेड ऑटो चालकों का सत्यापन भी कराया जा चुका है।

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एरिया कमांडर का प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत को खत्म करने की धमकी भरा पत्र मंगलवार को शामली रेलवे स्टेशन अधीक्षक को मिला है। इसके अलावा प्रमुख मन्दिर, रेलवे स्टेशन व बस अड्डों को बम से उड़ाने की धमकी दी गयी है। धमकी भरा पत्र मिलने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया है।

रेलवे प्रशासन चलती ट्रेनों में किसी की तबियत खराब होने पर स्टेशन पर मिलने वाले प्राथमिक के लिए अब 100 रुपये डॉक्टरी फीस व दवा के लिए लेगा। रेलवे बोर्ड ने इसके लिए लखनऊ सहित सभी जोनों को पत्र भेज दिया है। रेलवे बोर्ड से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि चलती ट्रेनों में यदि कोई यात्री इलाज के लिए डॉक्टर की सहायता मांगता है तो अब उसके लिए 100 रुपये की रसीद काटी जाएगी। यह रसीद टीटीई अपनी ईएफटी (एक्सेज फेयर टिकट) बुक से काटकर मरीजों को देगा। यह 100 रुपये डॉक्टरी फीस व दवा के लिए होंगे। रेलवे बोर्ड ने इसके लिए लखनऊ सहित सभी जोनों को पत्र भेज दिया है।