rain

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख समेत अन्य जगहों पर बारिश और बर्फबारी की आशंका व्यक्त की गई है। वहीं आज पुडुचेरी में भारी बारिश हो रही है

मौसम विभाग ने बताया है कि उत्‍तर प्रदेश के कई इलाकों में भी तेज गरज के साथ बारिश हो सकती है, तो वहीं उत्‍तराखंड के कई इलाकों में भी तूफान और बारिश के साथ ओलावृष्टि होने की संभावना है।

पश्चिमी विक्षोभ की वजह से फिर मौसम में बदलाव देखा जा रहा है। इसकी वजह से देश के कई इलाको में बारिश हो सकती है जिसके लिए अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में रात के तापमान में गिरावट जारी रह सकती है।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह शुरू हुई बूंदा-बांदी के बीच गांव के बाहर लगे गोबर के ओपलों 'कण्डों' को बारिश से बचाने के लिए लक्ष्मी देवी (40) पत्नी चंद्रपाल सुबह करीब 6:30 बजे घर से कण्डों को ढकने के लिए निकली।

दिल्ली एनसीआर के कई इलाकों में रुक-रुककर बारिश हुई। ऐसे में पश्चिमी विक्षोभ की वजह से हुई इस बारिश के बाद अब एक बार फिर तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज की गई। जिससे ठंड पहले से काफी ज्यादा बढ़ गई है।

इस साल 2021 में दिल्ली समेत पूरे देश को लेकर बताया जा रहा कि मानसून सामान्य बारिश वाला होगा। मौसम विभाग की तरफ से जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बार मानसून के दौरान औसतन सामान्य बारिश होगी।

दिल्ली के अलावा पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में मौसम अपना तेवर दिखा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी दिल्ली में कोहरे के साथ ही हल्की बारिश की संभावना है। दिल्ली में 22 जनवरी तक ऐसा ही मौसम रहने का अनुमान है।

उत्‍तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान और हरियाणा के कई इलाकों में कुछ दिनों से लगातार रुक-रुक कर बारिश हो रही है। दिल्ली और राजस्थान में एक बार फिर तेज बारिश हुई है।

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में शीतलहर का भी कहर बना हुआ है। जिसकी वजह से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। साथ ही कोहरे ने हवाई उड़ानों पर सबसे अधिक बुरा प्रभाव डाला है। घने कोहरे की वजह से यातायात के साधन ट्रेन, बस, हवाई सेवाएं सभी बाधित हो रही हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले चौबीस घंटों में कश्मीर के कई स्थानों पर बर्फबारी और बारिश हो सकती है। उत्तराखंड में कड़ाके की ठंड पड़ेगी। इस पहाड़ी राज्य में कई इलाकों में तापमान शून्य डिग्री के आसपास है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से ठंड में इजाफा हुआ है।