rain

देश में चारों दिशाओं में हर तरफ बारिश और बाढ़ तबाही बनकर बरस रही है। बीते कई महीनोें से बारिश की वजह से केरल, गुजरात, बिहार, असम, उत्तर काशी में आफत मची हुई है।

मॉनसून में पूरे देश को अपने कब्जे में ले रखा है। कहीं भीषण बारिश, तो कहीं बाढ़ नहीं तो भूस्खलन ने तबाही मचाई हुई है। अब आज शनिवार से अगस्त का महीना शुरू हो गया है।

देश में मानसून को लेकर बुरी खबर आई है। भारत के मानसून को लेकर अमेरिकन साइंटिफ‍िक एजेंसी के एक नए अध्ययन में यह बात सामने निकल कर आई है कि इस साल मानसून के कम-दबाव तंत्र के घटने का अनुमान है।

राजधानी दिल्ली में बारिश से किस तरह कहर मचा है ये आज देखने को मिला। रविवार सुबह से हो रही बारिश ने ऊंची-ऊंची बिल्डिंगों में रह रहे लोगों को तो राहत दी, मगर दूसरी तरफ आफत बनकर तमाम लोगों के ऊपर बरसी।

उत्तराखंड में बारिश जमकर कहर ढा रही है। यहां कुमाऊं में शनिवार देर रात को मुनस्यारी और धारचूला में हुई मूसलाधार बारिश ने जमकर तबाही मचाई।

मानसून ने अब तेज रफ्तार पकड़ ली है। जिसके चलते दिल्ली में रविवार की सुबह भयंकर बारिश हुई और सड़कों पर पानी भर गया। गहरे भरे पानी में सड़क पर शव बहता हुआ दिखाई दिया। जिसे देख लोग सन्न-गन्न रह गए।

उमस भरी गर्मी से राहत देते हुए मानसून ने अब तेजी पकड़ी है। जिसके चलते देश के तमाम शहरों में आज बादल गरज के बरते हैं और मौसम सुहावना हो गया है।

पूरे देश में मानसून का असर दिखाई दे रहा है, लगातार बारिश हो रही है। ऐसे में मुंबई और गुजरात में बीते 24 घंटे में जबरदस्त बारिश हुई है। साथ ही अगले 24 घंटे में यहां और झमाझम बारिश होने के आसार दिखाई पड़ रहे हैं।

मुंबई के मलाड इलाके में इमारत गिरने से कई लोग मलबे में दब गए। हादसा अब्दुल हमीद मार्ग पर स्थित एक इमारत में हुआ है। बताया जा रहा है इमारत काफी जर्जर हालत में थी। बारिश की मार नहीं झेल पाई और भर-भराकर गिर गई।

समुचित सफाई व्यवस्था और नालियों को दुरुस्त ना कराए जाने के कारण मंगलवार की शाम को हुई बारिश से मंडी आढ़तियों का लाखों रुपए का नुकसान हो गया। जिससे उनमें अब मंडी प्रशासन के खिलाफ आक्रोश दिखाई दे रहा है।