rain alert

गुरुवार यानी दस सितंबर को असम, पश्चिम बंगाल और सिक्किम के ऊपर चक्रवाती दशा होने के चलते पूर्वोत्तर भारत में बहुत भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने पूर्वोत्तर और प्रायद्वीपीय भारत में छिटपुट स्थानों पर बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है।

मौसम विभाग (IMD) ने उत्तर-पश्चिमी भागों, खासकर उत्तर प्रदेश और उत्तर पूर्व के कुछ हिस्सों में आज यानी बुधवार को भारी बारिश होने की संभावना जताई है। आईएमडी के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अगले छह दिनों तक हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार हैं।

देश के कई हिस्सों में बारिश की रफ्तार कम हुई है तो कुछ जगहों पर बारिश के नामोंनिशान नहीं है। कुछ जगहों पर बाढ की स्थिति है। अभी इधर 2 -3 दिनों में भी मौसम विभाग  का अनुमान है कि  देशभर में आगामी 30 जुलाई तक हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

देश के तमाम राज्यों में भयंकर उमसभरी गर्मी से लोगों का हाल-बेहाल हो गया है, वहीं कई राज्यों में मानसून और प्री-मानसून बारिश दस्तक दे चुकी है।

यूपी के करीब दर्जन भर जिलों में 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से आंधी चलने का अंदाजा लगाया गया है। वहीं कई जिलों में झमझमा के बारिश का भी अनुमान लगाया गया है।  

बताते चलें कि विदर्भ, मराठवाड़ा और मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में सोमवार और शनिवार के बीच गरज के साथ बारिश होने की संभावना है। नासिक और उत्तर महाराष्ट्र के अन्य जिलों में सोमवार से धूल भरी आंधी के बाद भारी बारिश  सकती है।

पश्चिम बंगाल में बीते 48 घंटे से हो रही भारी बारिश से चार लोगों की मौत हो गई। बारिश से चार बांग्लादेशी नागरिकों समेत 19 लोग घायल हो गए हैं। भारी बारिश के कारण सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भी पानी भर गया है।

धीमी शुरुआत के बाद मानसून ने रफ्तार पकड़ी है और पिछले चार दिनों में मानसून ने 10 राज्यों को कवर किया है। इन राज्यों में भारी बारिश हो रही है जो भीषण गर्मी से परेशान लोगों के लिए बड़ी राहत जैसा है।