rajasthan politics Crisis updates

राजस्थान कांग्रेस के युवा नेता सचिन पायलट की बगावत के बावजूद मध्य प्रदेश वाली कहानी नहीं दोहराई जा सकी। भाजपा की भी पायलट से वह उम्मीद नहीं पूरी हो सकी जो मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूरी की थी।

राजस्थान के सियासी रण में दोनों खेमे एक-दूसरे को पटखनी देने के लिए अपनी-अपनी रणनीति बनाने में जुटे हैं। अभी तक की जंग में गहलोत खेमा पायलट...

सचिन पायलट समेत कुल 19 विधायकों से जवाब मांगा गया था। कोर्ट में सचिन पायलट की ओर से हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी पेश हो रहे हैं, जबकि गहलोत सरकार की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी पेश हो रहे हैं।

सचिन पायलट की नाराजगी को लेकर मंत्री ने कहा कि पार्टी में कई मामलों में नाराजगी होती है, मेरी भी नाराजगी है लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि मैं गद्दारी करूंगा।

राजस्थान की गहलोत सरकार में सत्ता का संग्राम छिड़ चुका है। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट खुलकर बगावत पर उतर आये हैं। आज 10.30 बजे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर विधायक दल की बैठक बुलाई गयी है, जिसमें सचिन पायलट ने शामिल होने से इनकार कर दिया।