ram mandir

अयोध्या जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को फिर सुनवाई हो रही है। इस मामले में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई में 5 जजों की पीठ रोजाना सुनवाई कर रही है, जिसमें हफ्ते में पांच दिन इस केस पर सुनवाई हो रही है। सुप्रीम कोर्ट में रामलला विराजमान ने विवादित 2.77 एकड़ की जमीन पर अपना दावा बताया है।

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बड़ा बयान दिया है। शनिवार को सीएम योगी अयोध्या पहुंचे। यूपी के मुख्यमंत्री ने कहा कि मंदिर-मस्जिद विवाद को सुलझाने में मध्‍यस्‍थता की कोशिशें बेकार जाएंगी, यह हमें पहले से पता था।

रामजन्मभूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष रामविलास वेदान्ती ने आज कहा कि भारत में सद्भावना शांति बनी रहे इसके लिए मुसलमानों को आगे आकर कहना चाहिए कि हिंदू अपना मंदिर अयोध्या में निर्माण कराएं। अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए और लखनऊ में एक मस्जिद का निर्माण होना चाहिए लेकिन बाबर के नाम से नहीं।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के दौरे से पहले राज्यसभा सांसद और पार्टी प्रवक्ता संजय राउत तैयारियों का जायजा लेने अयोध्या पहुंचे। यहां पर उनके सुर बदले नजर आए। उन्होंने कहा कि रामलला राजीनित का विषय नहीं हैं वह हमारी आस्था का विषय है।

श्रीधर अग्निहोत्री लखनऊ: यूपी में मौसम के बढ़ते तापमान के साथ ही अयोध्या का मुद्दा फिर धीरे-धीरे गरमाने लगा है। पिछले छह महीने से ठंडी पड़ी अयोध्या की पावनभूमि पर फिर से संतों और राजनेताओं के बीच कहीं तारतम्य तो कहीं आक्रोश के सेतु टूटते-बनते दिखने लगे हैं। कई दशकों से लाचार अयोध्या एक बार फिर …

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर एक बार फिर साधु-संत मोर्चा खोलने के लिए तैयारी में है। आज यानी सोमवार को अयोध्या में संतों की एक बड़ी बैठक होने वाली है। साधु संतो की यह बैठक मणिराम दास छावनी में होगी।

अयोध्या में नई मस्जिद की अब जरूरत नहीं है जितनी मस्जिदें हैं उन्हीं का संरक्षण किया जाए। दरअसल विश्व हिंदू परिषद के प्रमुख आलोक कुमार ने बयान दिया है कि अयोध्या में मुसलमानों की इतनी तादाद नहीं है कि नई मस्जिद बनाई जाए।

लोकसभा चुनाव में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने बड़ा दिया है। उन्होंने संघ के एक कार्यक्रम में कहा कि राम का काम करना है और राम का काम होकर रहेगा। आरएसएस प्रमुख ने कहा कि इसकी निगरानी भी करनी होगी।

उन्होंने मीडिया से कहा कि अगर मंदिर बन गया होता तो आज भाजपा पूर्ण बहुमत में बिना प्रयास के खड़ी होती। आज भाजपा को सरकार बचाने के लिए, दर-दर लोगों से मदद मांगनी पड़ रही है। अब भी वक़्त है रामलला के लिए मजबूत उदघोष पैदा करें तो देखिए फिर से सरकार बनेगी।

कोर्ट के मध्यस्थता मामले को महंत ज्ञान दास ने बकवास बताया । वही प्रियंका गांधी को हनुमान जी के दर्शन करने को लेकर कहा कि प्रियंका गांधी के ऊपर हनुमानजी का आशीर्वाद है।