ram mandir

लखनऊ। शिवसेना प्रमुख उद्द्व ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार आयोध्या नगरी में रामलला के दर्शन को आ सकते हैं। सुत्रों की माने तो ये दौरा कुछ दिनों के भीतर हो सकती है जिसे लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई है। वहीं उद्दव का ये दौरा भाजपा के लिए खतरे की घंटी …

महाराष्ट्र चुनाव जीत कर राज्य की सत्ता में काबिज होने के बाद अब मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thakeray) उत्तर प्रदेश के दौरे पर होंगे। जानकारी के मुताबिक, सीएम ठाकरे अयोध्या स्थित राम मंदिर के दर्शन करने के लिए आने वाले हैं।

मकर संक्रांति के साथ सूर्य के उत्तरायण होते ही 15 जनवरी के बाद अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की तैयारियां दिखाई देने लगेंगी।इसके लिए राममंदिर आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती चली आ रही विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की अहम बैठक इसी महीने 20 जनवरी को प्रयाग में बुलाई गई है।

सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर पर फैसला सुना दिया है। देश की सर्वोच्च अदालत ने फैसला सुनाते हुए विवादित जमीन को रामलला को दे दिया है। तो वहीं मुस्लिम पक्ष को सरकार से 5 एकड़ जमीन देने को कहा है।

झारखंड विधानसभा चुनाव जीतने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों ने पूरा जोर लगा दिया है। बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड चुनाव के लिए पाकुड़ में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान बीजेपी ने राम मंदिर निर्माण के समय का ऐलान किया।

महाराष्ट्र से चलकर दो बसों में सवार 80 नेत्रहीन अयोध्या पहुंचें जहां सभी नेत्रहीनों का अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता वह भाजपा के कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। वहीं इस दौरान मौजूद सुरक्षा अधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था के अनुसार रामजन्मभूमि में विराजमान भगवान श्री रामलला का दर्शन कराया।

राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राम मंदिर को लेकर तैयारी तेज हो गई है। रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के साथ ही शहर का दायरा भी बढ़ाने का प्रस्ताव है। शहर का बढ़ाकर 100 वर्ग किमी किया जाएगा।

अयोध्या में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी आगामी 6 दिसंबर को होने वाले शौर्य दिवस को लेकर विश्व हिन्दू परिषद और रामजन्मभूमि न्यास मतभेद सामने आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने बैंकों, करेंसी चेस्ट, ए0टी0एम0, ग्राहक सेवा केन्द्रों आदि की सुरक्षा के सम्बन्ध में जिलाधिकारियों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों, रेंज व जोनल पुलिस अधिकारियों से कहा कि इन स्थलों की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित हो।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राममंदिर बनने का रास्ता साफ़ हो गया है, वहीं अयोध्या की गायों के दिन भी बदलने वाले हैं। अब नगर निगम इन्हें ठंड से बचाने के लिए कोट पहनाने की तैयारी कर रहा है।