rama

हनुमान को शिवावतार या रुद्रावतार भी माना जाता है। रुद्र आंधी-तूफान के अधिष्ठाता देवता भी हैं और देवराज इंद्र के साथी भी। विष्णु पुराण के अनुसार रुद्रों का उद्भव ब्रह्माजी की भृकुटी से हुआ था। हनुमानजी वायुदेव और मारुति नामक रुद्र के पुत्र थे।

जयपुर:  हनुमान जयंती का दिन हनुमानजी और मंगल देवता की विशेष पूजा का दिन होता है। इस बार हनुमान जंयती 19 अप्रैल 2019 दिन शुक्रवार को मनाई जा रही है।  हनुमान अपने भक्तों पर जल्दी प्रसन्न होते है। उनकी आराधना करने वाले लोग कभी भी उनके दर से खाली हाथ नहीं जाते है। वैसे तो …

गुमला: झारखंड की राजधानी रांची से 140 किमी की दूरी और गुमला जिले से करीब 22 किमी की दूरी पर है पवन पुत्र हनुमान की जन्मस्थली। कहा जाता है कि माता अंजनी यहीं निवास करती थीं और उनके नाम पर ही इस गांव का नाम आंजन पड़ा। गांव से 6 किमी दूर 1500 फीट ऊंची …

पूर्णिमा श्रीवास्तव गोरखपुर। धूप, धुंध हो या बारिश, बाढ़, आंधी या कोई प्राकृतिक आपदा हो, गोरखपुर के गीता वाटिका में हरे राम, हरे राम, हरे हरे कृष्ण की गूंज चारों पहर सुनाई देती है। सेंकेड, मिनट, दिन, महीने होते हुए साल दर साल का सफर पूरा करते हुए कीर्तन का कारवां 50वें वर्ष में पहुंच …

प्रदेश सरकार के पिछड़ा वर्ग व दिव्यांग जन मंत्री आज शनिवार (6 मई) जिले में दिव्यांगों के लिए आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने के आए थे।

नोएडा: 11 अगस्त को  ग्रेटर नोएडा के बिसरख धाम (रावण के मंदिर) में लंकापति रावण और श्रीराम के मूर्ति लगाई जाएगी। ये दुनिया का पहला ऐसा मंदिर है जहां  श्रीराम और रावण साथ में होंगे। मंदिर ट्रस्ट का भी दावा है ये अपने आप में ऐसा पहला मंदिर होगा। जहां रावण के साथ-साथ भगवान श्रीराम …

गुमला: झारखंड की राजधानी रांची से 140 किमी की दूरी और गुमला जिले से करीब 22 किमी की दूरी पर है पवन पुत्र हनुमान की जन्मस्थली। कहा जाता है कि माता अंजनी यहीं निवास करती थीं और उनके नाम पर ही इस गांव का नाम आंजन पड़ा। गांव से 6 किमी दूर 1500 फीट ऊंची …

लखनऊ: हनुमान को शिवावतार या रुद्रावतार भी माना जाता है। रुद्र आंधी-तूफान के अधिष्ठाता देवता भी हैं और देवराज इंद्र के साथी भी। विष्णु पुराण के अनुसार रुद्रों का उद्भव ब्रह्माजी की भृकुटी से हुआ था। हनुमानजी वायुदेव और मारुति नामक रुद्र के पुत्र थे। इनको सभी देवताओं का आशीर्वाद प्राप्त था। वे सेवक भी …

लखनऊ:  हनुमान जयंती का दिन हनुमानजी और मंगल देवता की विशेष पूजा का दिन होता है। इस बार हनुमान जंयती 22 अप्रैल 2016 दिन शुक्रवार को मनाई जा रही है।  हनुमान अपने भक्तों पर जल्दी प्रसन्न होते है। उनकी आराधना करने वाले लोग कभी भी उनके दर से खाली हाथ नहीं जाते है। वैसे तो …

लखनऊ: जमगाहन गांव के रामनामी समाज के बारे में कुछ लोग जानते होंगे। खासकर छत्तीसगढ़ के लोग इस समाज और उसकी परंपराओं से अच्छी तरह वाकिफ है। इस समाज की परंपरा अनोखी और 100 सालों से भी ज्यादा पुरानी है। रामनामी समाज की खास बात ये है कि  इस समाज के लोग पूरे शरीर पर …