ramnath kovind

नीदरलैंड के राजा विलियम एलेक्जेंडर और रानी क्वीन मैक्सिमा सोमवार को नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन पहुंचे। यहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका स्वागत किया। इसके अलावा विलियम एलेक्जेंडर और रानी क्वीन ने कई गणमान्य व्यक्तियों से मुलाकात की।

दरअसल जब कांग्रेस से इस्तीफा देकर डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जनसंघ की स्थापना की तो उसके पीछे उनका उदेश्य कश्मीर में धारा 370 हटाने को लेकर था।

दिग्विजय ने कहा कि प्रधानमंत्री में क्या ये परिवर्तन सच में है या सिर्फ एक जुमला ही है। देश में आज सांप्रदायिकता का जहर कूट-कूटकर भर दिया गया है, अब इसे वापस निकालना आसान नहीं है।

16वीं लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को समाप्त हो रहा है। इसकी पहली बैठक 4 जून 2014 को बुलाई गई थी और तब सदस्यों ने पद एवं गोपनीयता की शपथ ली थी।

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सोमवार को एक दिवसीय कानपुर जनपद दौरे आए। महाराजपुर स्थित कार्यक्रम में शामिल होने के बाद राष्ट्रपति सिविल लाइंस स्थित डीएवी कॉलेज पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि केवल शिक्षण संस्थाएं ही देश को बदलने में अहम भूमिका अदा कर सकती हैं। शिक्षा के माध्यम से ही देश में गरीबी, अराजकता, नस्लवाद व आतंकवाद मुक्त बनाया जा सकता है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 'धम्म कल्याण विपश्यना केंद्र' पुरुष निवास ब्लाक का उद्घाटन के बाद कहा कि गंगा नदी के किनारे बने विपश्यना केंद्र ने इसकी महत्वता को और भी बढ़ा दिया है।

देश के प्रमुख स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं में से एक, अपोलो हॉस्पिटल्स ने मेडिक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के साथ मिलकर शहर में अत्यधिक सुविधा प्रदान करने हेतु 330 बेड से लैस अपोलो मेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल का शुभारम्भ किया।

संसद के केंद्रीय कक्ष में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि मेरी सरकार ने नए भारत का सपना देखा था। साल 2014 के चुनाव से पहले देश अनिश्चितता से गुजर रहा था, लेकिन मेरी सरकार ने सत्ता में आते ही एक नए भारत के निर्माण का संकल्प लिया।

नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद रविवार यानी आज (18 नवंबर) से तीन दिवसीय यात्रा पर वियतनाम जा रहे हैं। राष्ट्रपति के इस दौरे का मकसद ध्यान रक्षा, सुरक्षा, कारोबार और तेल अन्वेषण के मुख्य क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग को और बढ़ाने का है। यह भी पढ़ें: कल से शुरू होगा भारत-रूस का संयुक्त सैन्य अभ्यास, यहां …

नई दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को यहां समाज में महिलाओं के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि कई मायनों में, महिलाओं की आजादी को व्यापक बनाने में ही देश की आजादी की सार्थकता है। राष्ट्रपति ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा, “आजादी की सार्थकता …