ramnath kovind

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई की आज जयंती है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का भी मोरारजी देसाई के साथ करीबी नाता रहा है। दरअसल रामनाथ कोविंद जब दिल्ली में हाईकोर्ट में प्रैक्टिस करते थे उस दौरान उन्होंने राजनीति में जाने का फैसला लिया।

दिल्ली हिंसा मामले में कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रपति कोविंद को ज्ञापन सौंपकर विरोध दर्ज कराया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद रविवार को इंटरनेशनल ज्यूडिशियल कॉन्फ्रेंस (आईजेसी) में पहुंचे। उन्होंने लैंगिक समानता हासिल करने में न्यायपालिका की कोशिशों की तारीफ की।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को संबोधित किया। राष्ट्रपति के अपने संबोधन में कहा कि किसी भी उद्देश्य के लिए संघर्ष करने वाले लोगों को गांधी जी के अहिंसा के मंत्र को सदैव याद रखना चाहिए।

 राष्ट्रपति को पत्र लिखने वालों में154 पूर्व जज, एक्स आर्मी अफसर और कई पूर्व आईपीएस शामिल हैं। उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लोकतांत्रिक संस्थानों की रक्षा करने के लिए ऐसे उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू करने का आग्रह किया है।

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की वजह से एक विदेशी महिला की शादी धूमधाम से मंगलवार को हो सकेगी। दरअसल, विदेशी महिला की शादी कोच्चि के जिस होटल में होनी थी, उसी होटल में राष्ट्रपति एक कार्यक्रम के दौरान ठहरने वाले थे। ऐसे में शादी समारोह के प्रभावित होने की सम्भावना थी, लेकिन राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से उठाये गये कदम के बाद अब महिला दुल्हन बन उसी होटल में धूमधाम से विवाह कर सकेगी।

बीएसपी प्रमुख  मायावती नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को वापस लेने के लिए आज राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगी। मायावती के साथ बीएसपी प्रतिनिधिमंडल बुधवार को सुबह साढ़े दस बजे राष्ट्रपति से मुलाकात करके अपनी मांग रखेगा।

अपने गृह नगर कानपुर पहुंचे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने यहां कहा कि तकनीकी के क्षेत्र में कानपुर लगातार प्रगति की ओर बढ़ रहा है। कानपुर में आइआइटी, हरकोर्ट बटलर प्राविधिक विश्वविद्यालय व पीएसआईटी समेत कई तकनीकी संस्थान हैं।