ranchi

झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सरकार की जीरो पावर कट के वादों की पोल खुल गई है। इन दावों की पोल खोलने वाली और कोई नहीं बल्कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान धोनी की वाइफ साक्षी धोनी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को रांची के प्रभात तारा मैदान से देश और झारखंड को सात सौगात देंगे। झारखंड के लिए नया विधानसभा भवन और साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन के साथ नए सचिवालय की बुनियाद रखेंगे।

सावन का महीना पवन करे शोर',कभी ये गाना सावन आते ही लोगों की जुबान पर खुद-ब-खुद आ जाता था। आज वक्त ने ऐसी करवट ली है कि सावन तो आता है पर अपने रंग नहीं बिखेर पाता। जिस सावन के आते ही नववधु के पैर ससुराल से मायके की दहलीज तक पहुंचते थे।

खाने और घूमने के शौकीनों के लिए देश के उन शहरों के खाने के स्टॉल की बात करते हैं, जहां आप एक बार जाए तो वहां जरूर जाकर स्वाद लें। जो अपने खास जायके के साथ ही अपने नाम से जानी जाती हैं। ये जगह चाहे,जयपुर हो या हैदराबाद ये हैं इंडिया के फेमस फूड कॉर्नर, नहीं चखा होगा

सोशल मीडिया पर एक धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार हुई छात्रा को रांची की कोर्ट ने जमानत दी थी। साथ ही कोर्ट ने आरोपी को पवित्र कुरान की पांच प्रतियां बांटने की शर्त रखी थी। 

इस ट्रॉफी में टॉस जीतकर बिहार ने बल्लेबाजी करते हुए 357 रन बने, जिसमे धोनी ने 12 चौकों और दो छक्कों की मदद से सर्वाधिक 84 रन बनाए थे। धोनी ने इस टूर्नामेंट में 9 मैचों में 488 रन बनाए थे और इस टूर्नामेंट के बाद उनको पहली श्रेणी में खेलने का मौका मिला था 

आज 21 जून को पूरी दुनिया में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस साल कार्यक्रम का मुख्य विषय ‘हृदय के लिए योग: योग फॉर हार्ट’ रखा गया है। 

World Yoga Day 2019 : शांति सौहार्द्र और एकजुटता के लिए रांची से पीएम मोदी लाइव। विश्व योग दिवस पर आज पूरे देश में कार्यक्रम हो रहे हैं। सभी लोग स्वास्थ्य शांति और सौहार्द्र के प्रति एकजुटता के लिए इसमें जुटे हैं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार शाम यहां बिरसा मुंडा हवाई अड्डे से बिरसा चौक तक लगभग ढाई किलोमीटर लंबा रोडशो शुरू कर झारखंड में लोकसभा चुनावों के लिए अपने प्रचार का आगाज कर दिया।

गुमला: झारखंड की राजधानी रांची से 140 किमी की दूरी और गुमला जिले से करीब 22 किमी की दूरी पर है पवन पुत्र हनुमान की जन्मस्थली। कहा जाता है कि माता अंजनी यहीं निवास करती थीं और उनके नाम पर ही इस गांव का नाम आंजन पड़ा। गांव से 6 किमी दूर 1500 फीट ऊंची …