Ratan Sehgal

पूर्व रॉ अधिकारी एन के सूद ने ये भी कहा कि मुम्बई में साल 1992 में जो धमाके हुए थे। उससे ठीक पहले हामिद अंसारी और तत्कालीन एडिशनल सेक्रेटरी (IB, intelligence bureau) रतन सहगल रॉ के खाड़ी देशों में फैलसे नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए आपस में मिल गए थे।