raw

असद दुर्रानी पाकिस्तान में आईएसआई के प्रमुख रहे हैं। उन्होंने अगस्त 1990 से लेकर मार्च 1993 तक बतौर आईएसआई चीफ अपनी सेवाएं दी हैं। 1998 में पाकिस्तान की मिलिटरी इंटेलिजेंस के डायरेक्टर जनरल के तौर पर भी कार्य कर चुके हैं।

भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसी रॉ ने एक बड़ा खुलासा किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, रॉ ने देश में होने वाले हमलों की फंडिंग का ठिकाना खोज लिया है।

ऐसे समय पर यह खुफिया जानकारी सामने आई है, जब पाकिस्तान को एफएटीएफ (फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स) के एशिया पसिफिक ग्रुप (एपीजी) से करारा झटका मिला है। बता दें, यूएनएससी की 1267 प्रतिबंधों को लागू करने के लिए पाकिस्तान ने पर्याप्त कदम नहीं उठाए हैं।

पूर्व रॉ अधिकारी एन के सूद ने ये भी कहा कि मुम्बई में साल 1992 में जो धमाके हुए थे। उससे ठीक पहले हामिद अंसारी और तत्कालीन एडिशनल सेक्रेटरी (IB, intelligence bureau) रतन सहगल रॉ के खाड़ी देशों में फैलसे नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए आपस में मिल गए थे।

इस्लामाबादः उरी में सेना पर हुए आतंकी हमले के बाद पहली बार पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ का अजब-गजब बयान आया है। जनरल शरीफ ने जर्मनी में अमेरिकी सेंट्रल कमान की बैठक में माना कि भारत में सीमापार से आतंकी जाते हैं, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ पर उल्टे आतंकी …

वाराणसी: पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में सात मार्च 2006 को हुए आतंकी हमले की दसवीं बरसी के एक दिन बाद एक संदिग्ध पकड़ा गया। पकड़ा गया संदिग्ध खुद को रॉ का एसएसपी बताकर पुलिस वालों पर रौब झाड़ रहा था। संदेह होने पर पुलिस ने उसे पकड़ कड़ाई से पूछताछ की, तो सच …