reliance jio

मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला पिछले 58 दिनों से जारी है। 11 निवेशों के जरिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 24.70% इक्विटी के लिए 1,15,693.95 लाख करोड़ का निवेश हो चुका है।

रिलाएंस इंडस्ट्रीज Nifty 50 इंडेक्स में सबसे तेजी से रिकवरी करने वाली कंपनी बन गई है। मार्च में रिलायंस इंडस्ट्रीज में बड़ी गिरावट देखने को मिली थी

अरबपति उद्योगपति मुकेश अंबानी के नियंत्रण वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी डिजिटल इकाई में अल्पांश हिस्सेदारी फेसबुक तथा निजी इक्विटी कंपनियों मसलन सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, केकेआर और जनरल अटलांटिक को बेचकर कुल 78,562 करोड़ रुपये की राशि जुटाई है।

लॉकडाउन के दौरान रिलाएंस ने वाकई में एक बड़ा हाथ मारा है। इस दौरान रिलाएंस ने कई डील्स किए। जिनके जरिये रिलाएंस को करीब 67,195 करोड़ रुपये का निवेश मिला है।

जियो ने एक नई डिजिटल दुनिया बनाई है जिसमें नेटवर्क, डिवाइसेस, एप्लिकेशंस, कॉन्टेंट, सर्विस एक्स्पीरियेंसेज़ सब शामिल हैं – और ये डिजिटल वर्ल्ड, भारत के ग्राहकों को उपलब्ध है – वो भी किफ़ायती दामों पर।

रिलायंस जियो बहुत कम समय में देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी बन गई है।  जियो के प्लान यूजर्स को बहुत लुभाते हैं। ये कंपनी अपने लॉन्च के साथ ही कम दाम वाले प्रीपेड प्लान लॉन्च कर प्रतिद्वंदियों के लिए मुश्किल खड़ी कर दी थी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड और फेसबुक इंक ने बुधवार को एक बाइंडिंग अग्रीमेंट पर हस्ताक्षर की घोषणा की है। जिसके मुताबिक फेसबुक ने जियो प्लैटफ़ॉर्म्स में ₹ 43,574 करोड़ ($6.22 अरब) का निवेश किया है।

कोरोना संकट के बीच रिलायस इंडस्ट्रीज के जियो प्लेटफॉर्म्स और दुनिया की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के बीच बड़ी डील हुई है। फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म में 9.99 पर्सेंट स्टेक के लिए 43,574 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है।

जियो ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान यूजर्स की इनकमिंग कॉल की सुविधा में कोई खेद नहीं आएगा, यानि यूजर्स को ये सुविधा लॉकडाउन तक मिलती रहेगी।

अगर आप घर बैठे पैसा कमाना चाहते हैं तो ये खबर आपके लिए उपयोगी साबित हो सकती है। दरअसल एयरटेल और जियो की तर्ज पर अब वोडाफोन आइडिया ने भी एक नए #रिचार्जफॉरगु़ड प्रोग्राम को शुरू किया है।