religious news

लखनऊ: हिंदू धर्म में महिलाओं को लक्ष्मी माना जाता है।  कहा गया है कि जिस घर में औरतों की इज्जत होती है वहां देवताओं का वास होता है। इसी तरह महिलाओं के शरीर के कई निशान भी उन्हें भाग्यशाली बनाते हैं। समुद्रशास्त्र की मानें तो ये निशान उन्हें भाग्यशाली बनाते हैं। कहा जाता है कि …

लखनऊ: हिंदू धर्म और पंचांग के दूसरे महीने का नाम वैशाख है। पुराणों के अनुसार, इस महीने में जल दान करने यानी प्यासों को पानी पिलाने से भगवान विष्णु, ब्रह्मा व शिव तीनों प्रसन्न हो जाते हैं। इस बार वैशाख मास का प्रारंभ 12 अप्रैल, बुधवार से हो रहा है, जो 10 मई, बुधवार तक …

लखनऊ: आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग किसी न किसी परेशानी से जूझ रहे हैं। कहावत है कि कोर्ट-कचहरी और अस्पतालों से भगवान हर किसी को बचाए, लेकिन इसके बावजूद आज देश का हर 5वां व्यक्ति कोर्ट से जुड़ी परेशानी से जूझ रहा है तो हम आपको श्री रामचरित मानस और रामायण की चौपाईयों …

बलरामपुर: बलरामपुर से 28 किलोमीटर की दूरी पर तुलसीपुर क्षेत्र में स्थित 51 शक्तिपीठ में एक शक्तिपीठ देवीपाटन का अपना एक अलग ही स्थान है। अपनी मान्यताओं और पौराणिक कथाओं के आधार पर जाना जाने वाले इस शक्तिपीठ का संबंध देवी सती, भगवान शंकर, गोखक्षनाथ के पीठाधीश्वर गोरक्षनाथ जी महराज सहित दान वीर कर्ण से …

लखनऊ:  आध्यात्मिक शक्ति का हमारे जीवन पर बहुत प्रभाव पड़ता है। शास्त्रों  में कहा गया है कि अगर रोज सुबह जल्द उठकर ईश्वर का ध्यान किया जाए तो दिन अच्छा गुजरता है। स्मरण शक्ति भी बढ़ती है। बहुत से लोगों को भूलने की बीमारी होती है। कई बार दवाईयां भी काम नहीं करती। अगर आप …

लखनऊ: नवरात्रि में चौथे दिन देवी के रूप कूष्मांडा  की पूजा की जाती है। ब्रह्मांड को जन्म देने के कारण इस देवी को कूष्मांडा कहा जाता है। जब सृष्टि नहीं थी, चारों तरफ अंधकार ही अंधकार था, तब इसी देवी ने अपने हास्य से ब्रह्मांड की रचना की थी। इसीलिए इसे सृष्टि की आदि स्वरूपा या …

कानपुर: जंगली देवी मंदिर की मूर्ति के पीछे बनी नाली में ईंट रखने के बाद उस ईंट को निर्माणाधीन मकान में लगाने से दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की होती है, ऐसी है जंगली देवी मंदिर की मान्यता। साथ ही जो भी भक्त पूरी श्रद्धा के साथ माता के चेहरे को निहारता है,धीरे-धीरे माता की प्रतिमा …

गोरखपुर: हिंदू धर्म में देवी-देवता और उनके मंदिरों का बहुत महत्व है। खुशी और गम दोनों में इस धर्म के लोग ईश्वर के प्रति अटूट आस्था रखते है। चाहे कोई भी बात हो हिंदूधर्मावलंबियों के लिए मंदिर जाना जरूरी होता है। मंदिर में मिलने वाले प्रसाद को  वे अमृत की समान मानते है। जब हम मंदिर …

रांची : सूबे की राजधानी रांची से लगभग 80 किलोमीटर दूर रजरप्पा स्थित छिन्नमस्तिके मंदिर शक्तिपीठ के रूप में जाना जाता है। यहां भक्त बिना सिर वाली मां की पूजा करते हैं। मान्यता है कि कामाख्या मंदिर के बाद रजरप्पा स्थित मां छिन्नमस्तिके मंदिर सबसे बड़ा शक्तिपीठ है। रजरप्पा के भैरवी-भेड़ा और दामोदर नदी के …

लखनऊ: नवरात्रि  पर दुर्गा के नौ रूपों की पूजा होती है। देवी का हर रुप शक्ति का है, जिसका अपना एक अलग महत्व होता है, इसलिए इनका पूजन हम बड़ी ही श्रृद्धा, भक्ति भाव के साथ करते हैं।  यदि मां दुर्गा की पूजा को पूरे विधि-विधान के अनुसार किया जाए तो मां की कृपा उस …