Republic Day

किसान ट्रैक्टर रैली में हिंसा करने वालों में क्राइम ब्रांच ने 12 लोगों की तस्वीरें जारी की हैं। इन सभी पर गणतंत्र दिवस के दिन लाल किले में हुए उपद्रव के दौरान पुलिस पर हमला करने के आरोप लगे हैं।

तिरंगे के अपमान पर टिकैत ने कहा कि क्या तिरंगा सिर्फ प्रधानमंत्री का है। सारा देश उससे  प्यार करता है, जिसने तिरंगे का अपमान किया है उसको पकड़ा जाए।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन किसान ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा के लिए खुफिया विभाग की असफलता को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। इस दिन को लेकर जनवरी के पहले हफ्ते में विशेष खुफिया निदेशक ब्यूरो की अध्यक्षता में हुई उच्च-स्तरीय समन्वय बैठक में खालिस्तान को लेकर जानकारी दी गई थी।

इसी बीच मीडियाकर्मी उधर से निकले तो उनकी नजर उल्टे झंडे पर पड़ गई। जब उन्होंने प्रधानाध्यापिका से इसकी शिकायत की तो वह माफी मांगने लगी।

आज वह लोग मन ही मन बहुत प्रसन्न हो रहें होंगें जो किसी न किसी प्रकार से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व भारत सरकार की छवि को देश ही नहीं अपितु पूरी दुनिया के सामने खराब करना चाह रहे थे।

विभिन्न दलों व विचारधाराओं से जुड़े नेताओं को सेवाहि धर्म: के द्वारा बनाए गए मंच पर एक साथ खड़े रहकर दांपत्य सूत्र में बधे नव दंपतियों को एक साथ आशीर्वाद देने की प्रक्रिया से गंगा जमुनी तहजीब की झलक भी इस कार्यक्रम में दिखाई पड़ी।

दिल्ली पुलिस की ओर से अभी तक इस मामले में 15 एफआईआर दर्ज की जा चुकी है मगर संघ के रुख से सरकार पर किसान आंदोलन से अब कड़ाई से पेश आने का दबाव बढ़ गया है।

आज 72वें गणतंत्र दिवस को बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया। इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर कई चीजें बेहद नई दिखीं थी।वही हर साल की तरह इस साल भी सभी राज्यों ने अपनी संस्कृति, भाषा और साहित्य, संगीत की झलक दिखाई।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने गणतंत्र दिवस के मौके पर पार्टी के प्रदेश कार्यालय में ध्वजारोहण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आज देश जब गणतंत्र दिवस मना रहा है तो देश का किसान दुखी है। ऐसे में यह अच्छी बात नहीं है कि देश का बड़ा तबका असंतुष्ट रहे।

लगभग 200 ट्रैक्टरों के हुजूम के साथ जब किसानों का जत्था पुराने अमहट पुल के पास पहुंचा तो वहां पहले से ही तैनात पुलिसकर्मियों ने किसानों के ट्रैक्टरों को शहर के अंदर प्रवेश करने से रोक दिया।