rohingya

पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई आईएसआई म्यांमार में आतंकी समूहों को ट्रेनिंग दे रहे हैं। ISI रोहिंग्या मुस्लमानों को आतंकी ट्रेनिंग रहा हैं।

बांग्लादेश तटरक्षक दल के एक जहाज ने एक नाव पर सवार करीब 500 रोहिंग्याओं को बचाया था। ये सभी मलेशिया जाने की कोशिश कर रहे थे लेकिन मलेशिया ने कोरोना वायरस के चलते अपनी जलसीमा पर पेट्रोलिंग सख्त कर दी

गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखा है। मंत्रालय ने निर्देश दिया है कि रोहिंग्या और तबलीगी जमात के बीच कनेक्शन की जांच की जाए। रोहिंग्या मुस्लिम और उनके परिचितों का भी कोविड-19 टेस्ट होना चाहिए।

भारत से रोहिंग्या रेफ्यूजी पलायन रहे हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक नेपाल और बांग्लादेश की आतंकी संगठन इन्हें नौकरी देने के नाम पर आतंकी साजिश में शामिल करने में लगे हैं।

कोर्ट ने कहा कि म्यांमार में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ किए गए नरसंहार के आरोपों पर फैसला देने के लिए वह प्रथम दृष्टया अधिकार क्षेत्र है और उसका आदेश बाध्यकारी है।

इस जमीन पर बांग्लादेश रोहिंग्या मुसलमानों को बसाने जा रहा है। इस द्वीप पर एक लाख घर बनाए गए हैं। अस्पताल बनाए गए हैं। मस्जिदें बनाई गई हैं। बांग्लादेश रोहिंग्या शरणार्थियों को यहां बसाने की तैयारी कर चुका है हालांकि इसके लिए अभी तारीख की घोषणा नहीं की गई है।

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को उन सात रोहिंग्याओं के निर्वासन पर रोक लगाने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया, जिन्हें आज (गुरुवार ) ही म्यांमार भेजा जा रहा है। ये 2012 में भारत आए थे और असम के सिलचर में एक शिविर में रह रहे थे। यह भी पढ़ें: आज ‘घर वापसी’ …

नई दिल्ली/सिलचर: केंद्र सरकार गुरूवार (4 अक्टूबर) को रोहिंग्या शरणार्थियों के पहले जत्थे की ‘घर वापसी’ करवाने जा रही है। इस जत्थे 7 लोग शामिल हैं। बता दें, देश में पिछले साल से रोहिंग्या शरणार्थियों को लेकर बवाल जारी है। यह भी पढ़ें: बदमाशों ने सगे भाइयों को गोली से उड़ाया, डबल मर्डर से पुराने लखनऊ …

न्यूयार्क : दुनिया में अपने घर से बेघर या विस्थापित लोगों की संख्या रिकार्ड उच्चतम लेवल पर पहुंच गयी है। 2017 में 6 करोड़ 85 लाख लोग दुनिया में विस्थापति हुए। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग की रिपोर्ट इस बात की भी तस्दीक करती है कि अमीर देशों द्वारा अब शरणार्थियों का उस तरह खुले दिल …