rss

नागपुर में विजय दशमी के मौके पर अपने भाषण में जो कुछ संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा वह देश के सभी नागरिकों के लिए बेहद अहम है। उन्‍होंने अपने भाषण में न केवल वाह़य शक्तियों से निपटने का रास्‍ता सुझाया बल्कि भारत में आंतरिक शांति बनाए रखने को भी जरूरी करार दिया।

राहुल गांधी ने RSS प्रमुख के विजयदशमी उत्सव के अवसर पर नागपुर में दिए भाषण के संदर्भ में समाचार एजेंसी के ट्वीट को उद्धृत करते हुए कि भारत भूमि पर चीन के कब्जे का असली सच क्या है इसे RSS प्रमुख मोहन भागवत अच्छी तरह से जानते हैं।

राम मंदिर पर बोलते हुए मोहन भागवत ने कहा कि 9 नवंबर को श्रीरामजन्मभूमि के मामले में अपना असंदिग्ध निर्णय देकर सर्वोच्च न्यायालय ने इतिहास बनाया। भारतीय जनता ने इस निर्णय को संयम और समझदारी का परिचय देते हुए स्वीकार किया।

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने बिहार चुनाव से पहले एक बार फिर आरक्षण पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि आरक्षण के लिए कानून तो बने हैं, लेकिन इसका लाभ सभी को नहीं मिल पा रहा है। बता दें कि उन्होंने 2015 बिहार विधानसभा चुनाव से पहले भी आरक्षण पर बयान दिया था जिसके बाद बवाल मच गया था।

गैर-मुस्लिम देशों में कोई भी राष्ट्राध्यक्ष कभी कोई मुसलमान नहीं बना लेकिन भारत ऐसा एकमात्र गैर-मुस्लिम राष्ट्र है, जिसमें कई राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और राज्यपाल, मंत्री और मुख्यमंत्री मुसलमान रहे हैं।

राम माधव को संगठन से हटाये जाने को लेकर भले ही हैरत जताई जा रही हो, पर हक़ीक़त यह है कि मोदी कैबिनेट के अगले विस्तार में राम माधव को शिक्षा महकमे की ज़िम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सर संघ चालक मोहन मधुकरराव भागवत आज अपना 70वां जन्मदिन मना रहे हैं। बता दें कि भागवत परिवार का RSS से तीन पीढ़ी पुराना नाता है।

भारत विरोधी रुख रखने वाले तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी से मुलाकात को लेकर बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान इन दिनों हर किसी के निशाने पर हैं।

आरएसएस के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख सुनील आम्बेकर ने रविवार को यहां कहा कि केंद्र सरकार की नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति बहुमुखी व्यक्तित्व का निर्माण करेगी।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर से बीजेपी और आरएसएस पर बड़ा हमला बोला है। अमेरिकी मीडिया में छपी एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए राहुल ने ये आरोप लगाया है कि इनके नेता फेसबुक और वाट्सएप को नियंत्रित करते हैं।