sanitizers

कोविड काल में सैनिटाइजर का चलन काफी बढ़ गया है। घरों, कर्यालयों में तो लोग बाहर से आने पर हाथ सैनिटाइज कर ही रहे हैं। साथ ही, इसकी बोतल भी साथ लेकर चलने लगे हैं। 

देश में कोरोना वायारस के बढ़ते मामलों के बीच मोदी सरकार ने मास्क और सैनिटाइजर को जरूरी सामान  में शामिल किया था। अब सरकार ने इसे बदलते हुए मास्क और सैनिटाइजर को आवश्यक वस्तु अधिनियम की लिस्ट से हटा दिया है।

कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए जिला पूर्ति अधिकारी अपने कर्मचारियों को सैनिटाइजर, मास्क वितरित किया। इस समय कोरोना वायरस जैसी भयंकर महामारी को देखते हुए आपूर्ति विभाग ने अपने कर्मचारियों को मास्क, सैनिटाइजर वितरित किया और कर्मचारियों को कोरोना से बचने का सलाह भी दिया।

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हजरतगंज में स्वास्थ विभाग द्वारा लोगों को सेनिटाइजर बांटा गया।

जिस हैंड सेनिटाइजर को पहले बहुत कम ही लोग इस्तेमाल करते थे और चंद कंपनियाँ ही इसका निर्माण करती थीं आज उसकी भारी मांग है। बाजार से हैंड सेनिटाइजर गायब से हो गए हैं और इनकी कालाबाजारी भी हो रही है।

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए महान क्रिकेटर शेन वॉर्न की डिस्टलरी में अब एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर बनाना शुरू कर दिया है, जो पहले ‘जिन’ (एक तरह की शराब) बनाती थी. इस महामारी से अब तक पूरी दुनिया में दो लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और 9000 लोगों की जान चली गई है।