sanjay singh

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव पास कर दिया है। वहीं आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा है कि एनपीआर एनआरसी को लागू करने की दिशा में पहला कदम है।

निर्भया रेप और हत्या मामले को लेकर बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच वार-पलटवार शुरू हो गया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के निर्भया के दोषियों की फांसी में देरी के लिए आम आदमी पार्टी की सरकार को जिम्मेदार बताए जाने के बाद AAP के सांसद संजय सिंह ने बीजेपी पर पलटवार किया है।

लखनऊ: यूपी की राजनीति के दो धुरंधरों की इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। चर्चा उनकी जनसेवा की नहीं बल्कि इन दोनों नेताओं के दल बदलने को लेकर हो रही है कि दल बदलने की होड़ में कौन आगे है। यहां हम बात कर रहे हैं संजय सिंह और नरेश अग्रवाल की। ये दोनों …

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस अभी उबरी भी नहीं है कि उसे झटके पर झटके लग रहे हैं। डॉ. संजय सिंह ने राज्यसभा और कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है। संजय सिंह को गांधी परिवार का करीबी माना जाता है। वह बुधवार को बीजेपी में शामिल होंगे।

संजय सिंह शनिवार को वाराणसी के जिला निर्वाचन कार्यालय में एडीएम प्रशासन से मिले। इस दौरान उन्होंने लिखित शिकायत पत्र के साथ रोड शो और नामांकन के फोटोग्राफ, वीडियो की पेन ड्राइव सौंपकर प्रधानमंत्री मोदी के नामांकन को रद्द करने की मांग की।

नामांकन दाखिल करने से पहले उन्होंने रोड शो किया। अमहट मंडी स्थित अपने आवास समाधान से रोड शो शुरू कर शहर पहुँचा। मीडिया से रूबरू होते हुए संजय सिंह ने कहा युवाओं को रोजगार मिल सके, पर्यटन स्थल के रूप में सुल्तानपुर विकसित हो, ड्रस्ट्रीयल डेवलपमेंट का भी मैं विस्तार करूंगा।

आप ने ऐलान कर दिया कि दिल्ली समेत कई राज्यों में कांग्रेस और पार्टी के बीच अब कोई गठबंधन नहीं होगा। आप से राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बुधवार को कहा कि पार्टी अब दिल्ली और हरियाणा में अपने दम पर चुनाव लड़ेगी।

संजय सिंह ने कहा कि मेनका गांधी को नरेंद्र मोदी व अमित शाह के साथ रहने की आदत हो चुकी है। यह बात वह उन्हीं के लिए कहना चाहती थीं लेकिन मंत्री उनकी जुबान फिसल गई और उन्होंने राहुल गांधी को लेकर बयान दिया।

कांग्रेस सांसद एवं सुल्तानपुर से पार्टी प्रत्याशी संजय सिंह ने रविवार को यहां बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा को जाने से कोई रोक नहीं पाएगा। जनता जुमले के भेद को जान गई है और झूठ का आधिपत्य समाप्त हो गया है।