Sarbananda Sonowal

भारत सरकार ने प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) के सभी गुटों के प्रतिनिधियों के साथ गृह मंत्रालय में त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

पुलिस महानिदेशक ज्योति महंता ने पत्रकारों से कहा कि राज्य के लिए और असम पुलिस के लिए यह एक महत्वपूर्ण दिन है। आठ उग्रवादी समूहों के कुल 644 कार्यकर्ताओं और नेताओं ने आत्मसमर्पण किया है।

आए दिन जनसंख्या नियंत्रण पर बात होती रहती है। अब इस दिशा में असम की बीजेपी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। असम की सर्बानंद सोनोवाल सरकार ने मंगलावार को बड़ा फैसला लिया है कि 1 जनवरी 2021 से जिसके दो से ज्यादा बच्चे हैं।

उन्होंने लिखा, ‘‘ भारत के लिए ऐतिहासिक दिन। यह राष्ट्रवाद और तीव्र विकास के लिए वोट है। यह नये भारत के लिए वोट है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में मजबूत और ईमानदार सरकार चुनने के लिए भारत के लोगों को बधाई।’’

गुवाहाटी: सर्वानंद सोनोवाल ने असम के पहले बीजेपी सीएम के तौर पर शपथ ली। उनके बाद हेमंता बिस्वा सरमा, परिमल शुक्रवैद्य सहित मंत्रियों ने शपथ ली है। सर्वानंद के शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन गुवाहाटी के खानपारा मैदान में किया गया। यह भी पढ़ें… असम में BJP के पहले CM होंगे सोनोवाल, ऐसे शुरू हुआ …

असम: चुनावी रुझानों में सर्वानंद सोनोवाल आगे चल रहे हैं। सोनोवाल ने अपना राजनीतिक करियर ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन यानि आसू से शुरू किया था। 1992 से 1999 तक वह इसके अध्यक्ष रहे। 2001 में वह आसू के राजनीतिक अवतार असम गण परिषद में शामिल हुए। इसी साल वह एमएलए चुन लिए गए। यह भी पढ़ें…LIVE UPDATE: …