See thsese pictures

जी हाँ ऐसे ही कुछ हालत हैं आजकल पलायन कर रहे मजदूरों की, ट्रेनों से सफर कर रहे मजदूर बेहाल हो चुके हैं। कहीं कोई बीमार है तो कहीं किसी का ऑपेरशन हुआ है, लेकिन ट्रेनों से उतरने के बाद उनसे उनका हाल पूछने वाला कोई नहीं है।