Shaheen Bagh

दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में रविवार रात फर्नीचर बाजार में आग लग गई जिसके बाद अफरा-तफरी मच गई। सूचना मिलने के बाद दमकल विभाग की चार गाड़ियां मौके पर पहुंची हैं।

कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर कहा, जो काम हजारों मिलिट्री, पुलिस लगाकर नहीं हो सकता वो मोदी जी की एक अपील पर हो रहा है। जनता कर्फ्यू में भारत आज पूरी तरह से बंद है।

जनता कर्फ्यू के बीच राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग इलाके से बड़ी खबर सामने आई है। शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल के पास पेट्रोल बम से हमला होने की खबर है।

राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले 3 महीने से लगातार प्रदर्शन चल रहा है। यहां संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ मुस्लिम महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं। इन प्रदर्शनों के कारण दिल्ली से नोएडा को जोड़ने वाली सड़क बंद है, जिससे दिल्ली के लोगों की काफी समस्या बढ़ी है।

भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 126 तक पहुंच गया है, जबकि अब तक देश में इससे 3 लोगों की मौत भी हो चुकी है। वहीं कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए दिल्ली सरकार ने लोगों को एडवाइजरी जारी की है।

इस विडियो, स्क्रीनशॉट के साथ कैप्शन लिखा गया है, ‘जैसे-जैसे दिन बीत रहा है शाहीन बाग की सच्चाई सामने आने लगी है।’ विडियो के आपत्तिजनक होने की वजह से टाइम्स फैक्ट चेक इसका लिंक नहीं दे रहा है।

दिल्ली के शाहीनबाग़ में धरने पर बैठी महिलाओं को डराए के लिए प्रदर्शन स्थल पर फायरिंग करने वाला आरोपी कपिल गुर्जर आज रिहा हो गया।

शाहीनबाग की मुख्य सड़क अभी धरनास्थल बनी हुई है। यानी अभी तक खाली नहीं हुई है। वहां अब भी महिलाएं प्रदर्शन पर डटी हैं। ये बात दीगर है कि अब महिलाओं की संख्या धीरे धीरे कम हो रही है। इसीलिए अब वहां माइक के जरिये लोगों व छात्रों से प्रदर्शन में शामिल होने का आह्वान किया जा रहा है।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी को लेकर दिल्ली में हुई उग्र हिंसा भले ही अब थम गयी हो लेकिन शाहीन बाग की महिलाओं का प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा।

दिल्‍ली हाई कोर्ट में आज शुक्रवार को हिंसा से जुड़ी कई याचिकाओं की सुनवाई करते हुए अदालत ने केंद्र सरकार और दिल्‍ली पुलिस को नोटिस जारी किया।याचिकाकर्ता ने शाहीन बाग समेत 8 जगहों पर प्रदर्शन किए जाने, इनकी फंडिंग की जांच की मांग करते हुए याचिका दायर की थी।