Shahin Bagh

देश भर में कोरोना का कहर जारी है। जिसके चलते पीएम मोदी ने रविवार को पूरे देश में 'जनता कर्फ्यू' लागू किया गया है। आज देश भर में लोग अपने घरों में रहकर जनता कर्फ्यू का पालन करेंगे। लेकिन दिल्ली के शाहीनबाग में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लगभग तीन महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर इस बात का कोई असर नहीं है।

शाहीनबाग की मुख्य सड़क अभी धरनास्थल बनी हुई है। यानी अभी तक खाली नहीं हुई है। वहां अब भी महिलाएं प्रदर्शन पर डटी हैं। ये बात दीगर है कि अब महिलाओं की संख्या धीरे धीरे कम हो रही है। इसीलिए अब वहां माइक के जरिये लोगों व छात्रों से प्रदर्शन में शामिल होने का आह्वान किया जा रहा है।

देश की राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग से CAA का प्रदर्शन अब शहर के कई इलाकों में होने लगा है। अब प्रदर्शनकारी शाहीन बाग, जाफराबाद और चांद बाग के बाद रविवार को मालवीय नगर के हौज रानी इलाके में भी CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने विरोध मार्च निकाला है।

जाफराबाद में CAA के खिलाफ शुरू हुए प्रदर्शन के विरोध में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा अपने समर्थकों के साथ सड़क पर उतर आए हैं। बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा...

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान ने शुक्रवार को नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे लोगों की निंदा की। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सरकार की किसी नीति..

देश की राजधानी दिल्ली के जामिया नगर इलाके में स्थित शाहीन बाग मोहल्‍ले में पिछले कई दिनों से महिलाएं CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं।

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में जारी विरोध प्रदर्शन विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा बन गया है। शुक्रवार को चुनाव आयोग के अधिकारी..

शाहीन बाग में प्रदर्शन के कथित समन्वयक और देशद्रोह के आरोपी जेएनयू के शोधार्थी शरजील इमाम पांच दिन की पुलिस रिमांड पर है और पूछताछ के दौरान उसने कई...

साहित्य उत्सव में शशि थरूर ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के मामले में राज्यों का जो विरोध है, उस पर केंद्र सरकार को ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएए के बाद जब केंद्र एनपीआर या एनआरसी करना चाहेगी, तब राज्यों का सहयोग जरूरी होगा और उस समय राज्य मना कर देंगे तो केंद्र क्या करेगा। उन्होंने कहा कि धर्म के आधार पर नागरिकता देने का विचार पाकिस्तान का है।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन जारी है। इस बीच बीजेपी की ओर से प्रदर्शनकारी महिलाओं पर पैसे लेकर धरने पर बैठने का इल्जाम लगाया गया था।