shardiya navratri-2020

हथुआ के राजा मनन सिंह खुद को मां दुर्गा का सबसे बड़ा भक्त मानते थे। उन्हें घमंड था कि उनसे बड़ा कोई मां का कोई सेवक नहीं है। कुछ समय के बाद अचानक से उस राजा के राज्य में सूखा पड़ गया। उसी दौरान थावे में माता रानी का एक भक्त रहषु रहा करता था।

अधिकमास की वजह से ना सिर्फ नवरात्रि, बल्कि दशहरा और दीपावली भी देरी से शुरू होंगे। 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी होगी। जिसके साथ ही चातुर्मास समाप्त होंगे। इसके बाद ही विवाह, मुंडन आदि मंगल कार्य शुरू होंगे।