Shatrughan Sinha

पटना : लोकसभा चुनाव के छह चरण समाप्त होने के बाद अब सबकी नजर सातवें चरण पर टिकी हुई है। बिहार में सातवें चरण के लिए आठ सीटों पर काफी दिलचस्प मुकाबला दिख रहा है। इन सभी सीटों पर बीजेपी और महागठबंधन के बीच कांटे की टक्कर है। बिहार में सातवें चरण में पटना साहिब …

PICS: मौलाना फरंगी महली से मिले गए 'शत्रु', R.K. चौधरी के समर्थन में हार्दिक ने किया सभा

पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार को नामांकन दाखिल कर दिया। बीजेपी का दामन छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने बिहार की पटना साहिब सीट से अपना नामांकन पर्चा भरा। बिहार की पटना साहिब लोकसभा सीट से शत्रुघन सिन्हा कांग्रेस के उम्मीदवार हैं।

कांग्रेस को मो. अली जिन्ना की पार्टी बताने के बाद अब शत्रुघ्न सिन्हा ने इसे लेकर आज सफाई दी। बयान पर मचे सियासी हंगामे के बाद सिन्हा ने कहा कि मैंने कल जो भी कहा था वो स्लिप ऑफ टंग था, मेरी जुबान फिसल गई थी।

पूर्व भाजपा नेता सिन्हा कांग्रेस की टिकट पर पटना साहिब सीट से लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वह यहां मुंबई उत्तर पश्चिम और मुंबई उत्तर से कांग्रेस प्रत्याशी क्रमश: संजय निरुपम एवं उर्मिला मातोंडकर के लिये चुनाव प्रचार कर रहे थे।

22 अप्रैल अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा को राजद प्रमुख लालू प्रसाद के 'दलाल' की संज्ञा देते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं के एक समूह ने सोमवार को पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र से शत्रुघ्न की उम्मीदवारी रद्द करने की मांग करते हुए पटना स्थित पार्टी मुख्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन किया।

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने शनिवार को शत्रुघन सिन्हा के कांग्रेस में जाने के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि पार्टी बदलना बेइमानी की राजनीति है। कुमार ने सिन्हा के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री सुखराम के भी कांग्रेस में शामिल होने पर उनकी आलोचना की।

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि बीजेपी में इस वक्त तानाशाही सरकार चल रही है। उन्होंने कहा कि ये वन मैन शो और टू मैन आर्मी की सरकार है। शत्रु ने कहा कि केंद्र के मंत्रियों को अपना सचिव रखने की इजाजत रखने की नहीं थी।

रविवार को सिन्हा ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस के साथ जाने का फैसला इसलिए किया है क्योंकि यह 'सही मायने' में एक राष्ट्रीय पार्टी है और उनके पारिवारिक मित्र लालू प्रसाद ने भी उन्हें ऐसा ही करने की सलाह दी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ आज बिहार कांग्रेस के नेताओं की आपात बैठक चल रही है जिसमें बिहार में पार्टी को मिली नौ सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम को लेकर मंथन चल रही है। वहां से खबरें ऐसी भी आ रही है कि कांग्रेस बिहार में किसी भी हाल में उम्मीदवारों को लेकर कोई समझौता करने के मूड में नहीं है।