Shikhar Dhawan

न्यूजीलैंड से हार के बाद भारत वर्ल्ड कप की रेस से बाहर हो गया है। प्रबल दावेदार टीमों ने सेमीफाइनल में जगह बनाई, लेकिन मैच के दिन खराब प्रदर्शन से भारत की विश्व कप उम्मीद टूट गई। टीम इंडिया का वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना टूट गया है।

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया को एक और झटका लग सकता है। भारतीय टीम के हरफनमौला खिलाड़ी विजय शंकर भी चोटिल हो गए हैं। शिखर धवन पहले ही चोटिल होने की विश्व कप से बाहर हो चुके हैं, तो वहीं भुनेश्वर कुमार भी चोटिल हैं।

भारतीय टीम को वर्ल्डकप-2019 में एक बड़ा झटका लगा है। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन आईसीसी विश्व कप-2019 से बाहर हो गए हैं। उनके हाथ के अंगूठे में चोट है और वह टूर्नामेंट तक ठीक होने की स्थिति में नहीं हैं।

इग्लैंड में विश्व कर खेल रही भारतीय टीम को बुधवार को बड़ा झटका लगा है। चोट की वजह से शिखर धवन भारतीय टीम से बाहर हो गए हैं, तो वहीं तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार भी कुछ मैचों से बाहर हैं।

विश्व कप खेलने इंग्लैंड गई टीम इंडिया को बुधवार को करारा झटका लगा है। चोटिल होने की वजह से शिखर धवन बाहर हो गए हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते वक्त धवन के बाएं हाथ के अंगूठे में हेयरलाइन फैक्चर आ हो गया था जिसकी वजह से ओपनिंग बल्लेबाज को बाकी बचे टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ा।

इंग्लैंड में शानदार प्रदर्शन कर रही टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा है। और उसके सलामी बल्लेबाज शिखर धवन पूरे विश्व कप से ही बाहर हो गए हैं। यह सही है कि केएल राहुल ने पाकिस्तान के खिलाफ टीम को शानदार शुरुआत दी, लेकिन यह भारत के लिए एक बड़ा झटका है।

वर्ल्ड कप-2019 के अपने दूसरे ही मैच में शतक जड़कर लय हासिल कर चुके शिखर धवन से टीम इंडिया को टूर्नामेंट में बड़ी उम्मीदें थीं। लेकिन भारतीय फैंस के लिए अच्छी खबर नहीं है।

पिछले मैच में शतकीय पारी खेलने वाले टीम इंडिया के बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन वर्ल्डकप से बाहर हो गए हैं। यह खबर टीम इंडिया और उनके फैन्स के लिए बहुत बुरी है लेकिन यह खबर सच है।

विस्‍फोटक ओपनर शिखर धवन बाएं हाथ के अंगूठे में चोट की वजह से विश्वकप में आगे नहीं खेल पाएंगे। शिखर के न खेल पाने की वजह से टीम इंडिया को मंगलवार को तगड़ा झटका लगा।

आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गये पिछले विश्व कप के बाद के आंकड़ों पर भी गौर करें तब भी रोहित और धवन विश्व भर की सलामी जोड़ियों के सामने अव्वल ही साबित होते हैं। भारतीय जोड़ी ने इन चार वर्षों में 60 मैचों में 2609 रन मिलकर बनाये जिसमें आठ शतकीय और सात अर्धशतकीय साझेदारियां शामिल हैं।