shivpal yadav

कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा उठी कि अखिलेश यादव स्व. पारस नाथ के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करने आ सकते है नहीं आये।अखिलेश त्रयोदशा कार्यक्रम में भी नहीं पहुंचे

आगामी यूपी विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी ने तैयारी शुरू कर दी है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव जहां एक ओर संगठन के पेंच कस रहे हैं

उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने गुरुवार को समाजवादी पार्टी द्वारा शिवपाल सिंह यादव की विधानसभा सदस्यता निरस्त करने संबंधी याचिका को वापस कर दिया है।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने यूपी में भाजपा सरकार के तीन सालों में कोई उपलब्धि नहीं हुई है, तीन साल से सत्ता में रहने के बावजूद भाजपा सरकार ने उंगली पर गिनाने लायक काम भी नहीं किए है।

सैफई में चार साल बाद मंगलवार को मुलायम परिवार एक साथ एक मंच पर दिखाई दिया। मौक़ा था होली का। यादव परिवार की तरफ से आज के दिन होली मिलन समारोह आयोजित किया गया था।

सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी बनाने वाले दिग्गज नेता शिवपाल सिंह यादव ने केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोलने के साथ समाजवादी पार्टी पर भी  निशाना साधा।

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के तत्वावधान में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व समाजवादी चिन्तक मधु लिमये की पुण्यतिथि के अवसर पर “साम्प्रदायिकता के वर्तमान संदर्भ“ विषयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता प्रसपा प्रान्त अध्यक्ष सुंदर लाल लोधी एवं संचालन बौद्धिक सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष दीपक मिश्र ने की। शिवपाल यादव ने लिमये के …

अपने भतीजे अखिलेश यादव से बात बनते न देख अब चाचा शिवपाल सिंह यादव ने अकेले ही सड़क पर उतरने का फैसला किया है। हाल ही में लोकसभा चुनावमें बुरी तरह से चारों खाने चित्त होने के बाद अब उनकी पार्टी प्रसपा भाजपा कीकेन्द्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ आंदोलन करेगी।

कार्यकारिणी में प्रदेश अध्यक्ष सुंदर लाल लोधी, प्रदेश प्रमुख महासचिव वीरपाल सिंह यादव के अलावा तीन उपाध्यक्ष, 24 महासचिव, एक कोषाध्यक्ष, 33 सचिव, 28 सदस्य एवं 14 विशेष आमंत्रित सदस्यों को स्थान दिया गया है।

आजादी के बाद से ही देश की राजनीति में विरासत का जो दौर शुरू हुआ उसमें पिता-पुत्र से लेकर पिता-पुत्री, ससुर-दामाद से लेकर बहू-सास तक शामिल रहे है। पर इन दिनों महाराष्ट्र की राजनीतिं चाचा शरद पवार और भतीजे अजीत पवार को लेकर सुखियों में है।