shivraj singh chauhan

शिवराज सिंह ने धर्म परिवर्तन और लव जिहाद के मामले में भी कड़ाई करते हुए कहा कि सरकार सभी धर्मो और जातियों का सम्मान करती है।

शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, "आज सारा देश यह जानना चाहता है कि धारा 370 की समाप्ति का विरोध करने वालों और आतंकवाद को बढ़ावा देकर जम्मू-कश्मीर की फिज़ा में ज़हर घोलने वालों के साथ हाथ में हाथ डालकर कांग्रेस पार्टी क्यों खड़ी है?"

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट में लिखा है, "प्रदेश में गोधन संरक्षण व संवर्धन के लिए 'गौकैबिनेट' गठित करने का निर्णय लिया गया है। पशुपालन, वन, पंचायत व ग्रामीण विकास, राजस्व, गृह और किसान कल्याण विभाग गौ कैबिनेट में शामिल होंगे।

बता दें कि हाल ही में कांग्रेस नेता दिनेश गुर्जर ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भूमि अधिग्रहण करने का आरोप लगाया था। सीएम शिवराज पर तंज कसते हुए कहा कि पहले शिवराज सिंह चौहान के पास पांच एकड़ की भूमि थी लेकिन अब उनके पास हजारों एकड़ भूमि है।

बेटी देवांशी गौतम ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को मंगलवार को एक पत्र लिखकर दावा किया कि 'मेरी मां मानसिक बीमारी से पीड़ित है।'

खाद्य निरीक्षक मनीष स्वामी ने सफाई देते हुए कहा  कि कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देश पर सीएम के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के समय के मुताबिक खाना शाम 6 बजे ही बनवा लिया गया था।

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत उज्जैन से राज्य के 22 लाख किसानों के खातों में 4686 करोड़ की राशि ट्रांसफर की है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को एक बार फिर कांग्रेस नेता कमलनाथ पर बड़ा हमला बोला। शिवराज ने एक कार्यक्रम में राम मंदिर निर्माण को लेकर कमलनाथ को निशाने पर ले लिया।

मध्य प्रदेश में ‘कन्यादान योजना’ को लेकर पूर्व की कांग्रेस और वर्तमान की बीजेपी सरकार में ठन गई है। मामला कन्यादान योजना के तहत दी जाने वाली राशि से जुड़ा हुआ है।

मंगलवार को सबसे बड़ी खबर मध्य प्रदेश से आई है। शिवराज सरकार ने सरकारी नौकरियों में भर्ती को लेकर बड़ा ही महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। जिसके मुताबिक अब सिर्फ मध्य प्रदेश के बच्चों को ही राज्य के अंदर सरकारी नौकरी मिलेगी। दूसरे राज्यों के आवेदकों को किसी तरह की सरकारी नौकरी में तवज्जो नहीं दी जाएगी।