siddharth nath singh

ओडीओपी योजना आने के बाद से ग्रामीण क्षेत्रों में बडी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा हो रहे हैं । पहले की अपेक्षा कारीगर अपना घरबार छोड़कर बाहर नहीं गए हैं। आगे भी यही प्रक्रिया जारी रहेगी।

आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने आज योगी सरकार में शामिल मंत्री सिद्धार्थनाथ पर कई आरोप लगाए और कहा कि उन्होंने अलग-अलग तस्वीरें ट्वीट कर दिल्ली सरकार के स्कूलों की बदहाल तस्वीर पेश करने की झूठी और नाकाम कोशिश की थी।

पत्रकार वार्ता में कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि पूर्वांचलियों पर आपने जो टिप्पणी की थी, उसके लिए आपने अभी तक माफी भी नहीं मांगी है। आपने कहा था, ‘पांच सौ रुपए के टिकट पर पूर्वांचली आते हैं और फ्री में पांच लाख का ईलाज कराकर चले जाते हैं। इसलिए हम लोग दिल्ली में कोविड की लड़ाई इन पूर्वांचलियों के कारण जीत नहीं पा रहे हैं’।

सिधार्थ नाथ सिंह ने कहा कि किसान आंदोलन के समर्थन में यात्रा करने की घोषणा करने वाले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव जब तक सत्ता में रहे, बाॅलीवुड के हीरो-हिरोइनों के नृत्य का आनंद लेते रहे, किसान कभी भी उसकी प्राथमिकता में नहीं रहा।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए औद्योगिक विकास मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार उद्योगों को चालू कराया जाय। उद्यमियों को किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो, इसके लिए विस्तृत कार्ययोजना के तहत कार्य किया जाय।

दीप प्रज्वलन व पूजा अर्चना के उपरांत सिद्धार्थ नाथ सिंह ने जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा ज्ञान ग्रहण सदैव ईमानदारी से करना चाहिए जो आप जीवन की संस्कृति और संस्कार के साथ विकास की ओर बढ़ाता है।

मंत्रालय में फेरबदल के बाद सिद्धार्थनाथ सिंह पहली बार वाराणसी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत में बिजली विभाग में कर्मचारियों के पीएफ घोटाले पर सरकार का बचाव किया।

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करूंगा । यदि कोई भ्रष्टाचार करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि बिना जानकारी के मैं कार्रवाई नहीं करता।

लखनऊ:योगी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती के जन्मदिवस पर चुटकी लेते हुए कहा कि इन दोनों लड़कों (अखिलेश यादव व तेजस्वी यादव) की डील के बीच में मायावती जी के सपनों का क्या होगा? सिद्धार्थनाथ सिंह ने अपने विभागीय व्हाटसएपग्रुप पर एक वीडियो जारी कर यह चुटीला बयान सार्वजनिक किया है।

राम मंदिर मामले कोर्ट से मिली नई तारीख कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, इसलिए इसपर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा। हां भारत का नागरिक होने की वजह से हमारे दिल में और सभी देशवासियों के दिल में राम मंदिर निर्माण को लेकर बेचैनी है। सभी चाहते हैं कि जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण हो जाए।