Sonbhadra Incident

सोनभद्र कत्लेआम से कई माह पूर्व अपना दल( एस) के दुद्धि विधायक हरिराम चेरो द्वारा कई माह पूर्व ही मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार व बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्राचार के माध्यम से समस्या के त्वरित निस्तारण करने के लिए आग्रह व निवेदन किया गया था किंतु नौकरशाही ने इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया। यदि नौकरशाही चेत जाती तो सोनभद्र कत्लेआम से बच सकता था।

असल में सोनभद्र नरसंहार बीती 17 जुलाई को जमीनी विवाद को लेकर चर्चा में हैं। सोनभद्र में जमीन विवाद के चलते फायरिंग हुई, जिसमें 10 लोगों की जान चली गई। तो इन्ही पीड़ितों का हाल पूछने प्रियंका सोनभद्र आईं थी।

विधान परिषद में शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने सदन नहीं चलने दिया। सदस्यों ने सपा नेता व सांसद आजम खां पर दर्ज किये जा रहे मुकदमों को झूठा बताते हुए सरकार पर आरोप लगाया कि उसने आजम खां को रातो-रात भूमाफिया बना दिया है।