sonbhadra

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीनों के कब्जे की घटनाएं कोई नई बात नही यह अलग बात है कि आज बड़ी बात हो गयी। यदि जमीनों के विवाद के मामले देखा जाए तो वनभूमि के कब्जे और आदिवासियों को बेदखल करने का मामला शुरू से चला आ रहा है।

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां जमीन विवाद में 9 लोगों की हत्या की खबर है। जिले के घोरावल कोतवाली क्षेत्र के मूर्तिया ग्राम पंचायत में दो पक्षों में जमकर गोली, लाठी डंडे, कुल्हाड़ी, पत्थर चले।

अब तक केवल लोगों को जागरूक करने के लिए ही कहा जाता था कि मोबाइल का रेडिएशन बाडी के लिए खतरनाम साबित हो सकता है लेकिन किसी की इससे मौत हो जाए। यह बात कुछ अजीबो गरीब लगती थी पर ऐसा हुआ है।

सोनभद्र: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के राबर्ट्सगंज कोतवाली क्षेत्र के एक होटल में शनिवार को भोजपुरी फ़िल्म की शूटिंग करने आए कलाकारों पर उन्हीं के टीम के एक सदस्य ने गोली चला दी। इससे एक कलाकार घायल हो गया। इस दौरान सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस पर भी आरोपी ने फायर किए। बताया जा रहा …

कथित तौर पर किसानों और पटेलों को लामबंद करने सोनभद्र पहुंचे हार्दिक पटेल ने कहा है कि पुलवामा घटना के लिए सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है क्योंकि सूचना तंत्र द्वारा दी गयी जानकारी को मंत्रालय द्वारा क्यों अनदेखा किया गया यह सरकार को बताना चाहिए।

राज्य स्तरीय तीरंदाजी प्रतियोगिता का शुभारंभ आज जिले के तियरा स्टेडियम में हुआ। चार फरवरी तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में न सिर्फ प्रदेश के बल्कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर में प्रतिभाग करने वाले करीब 5 सौ खिलाड़ी भाग लेने पहुंच रहे हैं।चार दिन तक चलने वाली इस प्रतियोगिता में देश भी से आए चोटी के तीरंदाज लक्ष्य को भेदेंगे।

सोनभद्र: जनपद के सोनभद्र में चोपन के नगर पंचायत अध्यक्ष इम्तियाज अहमद की अज्ञात हमलावरों ने गुरुवार की  समय गोली मारकर हत्या कर दी।इम्तियाज सुबह खेलने के लिए घर के निकले थे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हमलावर एक मोटरसाइकिल से तीन की संख्या में आए थे। उधर इम्तियाज बेफिक्र होकर सुबह टहलने के लिए निकले …

सोनभद्र : जिले की पहचान भले ही पॉवर हब के रूप में होती हो, लेकिन विकास के मामले में यह देश के सबसे पिछड़े जिलों में ही रहा है और आज भी है। जिसे नीति आयोग के अत्यंत पिछड़े जिले की सूची में भी देखा जा सकता है। मौजूदा समय में समय में 47 से 48 …

सुनील तिवारी  सोनभद्र : भौगोलिक दुरूहता इस जिले के विकास में सबसे बड़ी बाधा यदि है तो उसे दूर करने की इच्छा शक्ति भी कभी किसी दल या नेता में नही रही । यही कारण है कि कभी कोई लगातार नही रहा। मुद्दा विशेष पर कोई वादा या वादा खिलाफी नही रही जिस पर वोट …

वाराणसी: बीएचयू परिसर में छात्राओं से छेड़खानी का विवाद खत्म हुआ नहीं कि एक और मुसीबत ने दस्तक दे दी। ताजा मामला जुड़ा है सर सुंदरलाल स्थित ट्रामा सेंटर से, जहां एक परिवार ने डॉक्टरों पर संगीन आरोप लगाए हैं। सोनभद्र में सड़क हादसे के दौरान गंभीर रूप से जख्मी चंद्रिका पनिका की मौत के …