sonia gandhi

सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस नेताओं की बैठक आज,  जनपथ पर सुबह 9.30 बजे होगी कांग्रेसी नेताओं की बैठक होगी। बैठक में बजट सत्र की रणनीति पर चर्चा होगी। 5 जुलाई को वित्त मंत्री पेश करेंगी बजट।

लोकसभा 2019 चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज रायबरेली पहुंची। जहां उन्होंने 40 लोकसभा क्षेत्रों से आए हुए कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी अपनी बेटी प्रियंका वाड्रा के साथ बुधवार को रायबरेली आएंगी। भुएमऊ गेस्ट हाउस में नेताओं का कार्यकर्ताओं से मिलने का कार्यक्रम है। समझा जाता है कि इस बार राजनीतिक परिपाटी का नया रूप रायबरेली में देखने को मिलने वाला है।

यदि मेनका गांधी प्रोटम स्पीकर नहीं भी बनती है तो उनके लोकसभा अध्यक्ष बनने की संभावना है। क्योकि वह लगातार आठ बार सांसद रह चुकी हैं और वरिष्ठता के लिहाज से उनके स्पीकर बनने की संभावना प्रबल है।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के मुताबिक नेता चुने जाने के बाद सोनिया ने देश के उन 12.13 करोड़ मतदाताओं का आभार प्रकट किया जिन्होंने इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया।

संसद के केंद्रीय हॉल में कांग्रेस संसदीय दल (सीपीपी) की बैठक हो रही है। इस बैठक में सोनिया गांधी को कांग्रेस संसदीय दल का नेता चुना गया है। इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा समेत पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु की 55वीं पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

रायबरेली से सांसद सोनिया गांधी ने अपने क्षेत्र वासियों को पत्र के माध्यम से धन्यबाद कहा है। अपने लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि मैं हृदय से आप सभी की कृतज्ञ हूं कि लोकसभा के इस चुनाव में आपने हर बार की तरह मुझ में अपना विश्वास जताया।

इनके अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल, एके एंटनी, आनंद शर्मा, शीला दीक्षित और भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी वीर भूमि पहुंचकर राजीव गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

लखनऊ: देश में हो रहे 16वी लोकसभा के चुनाव में यूपी की राजनीति में कुछ ऐसे धुरंधर उतरे हैं जिनका यह चुनाव अंतिम चुनाव कहा जा रहा है। राजनीति के इन धुरंधर खिलाडिय़ो में कुछ ने तो खुद ही अंतिम चुनाव लडऩे का एलान कर दिया है तो कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो बढ़ती …