south china sea

चीन और अमेरिका की तैयारी को देखते हुए यही कहा जा रहा है कि तीसरा विश्वयुद्ध समंदर में होगा। और ये समंदर होगा दक्षिण चीन सागर। अब भारत भी दक्षिण चीन सागर पहुंच गया है।

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद का मामला गरमाता ही जा रहा है। दोनों देशों के बीच सैन्य स्तरों पर कई दौर की वार्ताएं हो चुकी है लेकिन स्थिति जस की तस है। लिहाजा सीमा पर बड़ी संख्या में दोनों देश की सेनाएं तैनात हैं।

भारतीय नौसेना ने चीन के खिलाफ मौर्चा तेज कर दिया है। दक्षिण चीन सागर में नौसेना ने जंगी जहाज तैनात कर दिया है। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के साथ हुई खूनी झड़प को देखते हुए ये अहम कदम उठाया गया है।

अमेरिका और चीन में तनाव चरम पर पहुंच चुका है। दोनों देशे के बीच दुश्मनी इतनी बढ़ गई है कि कभी युद्ध छिड़ सकता है। चीन ने तनाव के बीच दक्षिण चीन सागर में मिसाइलें दागी हैं।

अमेरिका और चीन के बीच लगातार बढ़ती तनातनी के बीच अमेरिका ने एक बार फिर कड़ा तेवर दिखाया है। अमेरिका ने 24 चीनी कंपनियों और उनसे जुड़े अधिकारियों पर बुधवार को प्रतिबंध लगाते हुए उन्हें ब्लैक लिस्ट में डाल दिया है।

भारत में मौजूद वियतनाम के राजदूत फैम सन चाउ ने भारतीय विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला से मुलाक़ात की। इस दौरान उन्होंने चीन की हरकतों के बारे में बताया।

चीन ने वियतनाम से सटे हुए दक्षिण चीन सागर में बमवर्षक तैनात कर दिए हैं। इस बात से चिंतित वियतनाम ने भारत को अपनी परेशानी बताई है। भारत में मौजूद वियतनाम के राजदूत फैम सन चाउ ने ये बात भारतीय विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला को एक मुलाकात के दौरान बताई है।

भारत और अमेरिका से बढ़ती तल्खी के बीच चीन को आज एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल विस्तारवादी सोच रखने वाले चीन को ये झटका मलेशिया ने ने दिया है। मलेशिया ने चीन की तरफ से साउथ चाइना सी पर किए गए दावे को पूरी तरह से नकार दिया।

अमेरिका और चीन के बीच दक्षिण चीन सागर (South China Sea) के मसले पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। चीन और अमेरिका के बीच स्थिति काफी तनावपूर्ण हो चुकी है।

चीन-अमेरिका तनाव के बीच यूएस युद्धपोतों ने विवादित साउथ चाइना सी में एक बार फिर शनिवार को सैन्य अभ्यास किया। बता दें कि एक महीने में अमेरिका ने दूसरा बड़ा सैन्य अभ्यास किया है।