srinagar

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। कश्मीर के मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव जारी है। इस बीच सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शुक्रवार को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पहली बार कश्मीर घाटी का दौरा किया।

इसके साथ ही पाकिस्तान POK में भारतीय सेना की वर्दी पहने लोगों के अत्याचार के विडियो शूट कर उन्हें इंटरनेट पर फैला रहा है। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन जनजीवन को सुगम बनाने के लिए लोगों की आवाजाही, लैंडलाइन फोन, मोबाइल फोन नेटवर्क पर पाबंदियों को धीरे-धीरे हटा रहा है।

अधिकारियों ने बताया कि युवा मोटरसाइकल से आए और दुकानदार पर गोलियां बरसा दीं जब वह अपनी दुकान बंद कर रहा था। उन्होंने कहा कि घटना के बाद इलाके में सुरक्षा और बढ़ा दी गई है और पुलिस हत्यारों की तलाश कर रही है।

दिल्ली. राहुल गांधी श्रीनगर से लौटते समय जिस फ्लाइट से आ रहे थे, उसे दिल्‍ली एयरपोर्ट पर लैंड करने से ठीक पहले एक बार फिर उड़ान भरनी पड़ी. फ्लाइट को काफी देर तक हवा में ही घुमाना पड़ा। घाटी के हालात का जायजा लेने जा रहे थे राहुल…. गोएयर की फ्लाइट में राहुल गांधी के …

सोमवार से कश्मीर घाटी में स्कूल-कॉलेज और सरकारी ऑफिस खोलने के लिए राज्य सरकार ने घोषणा कर दी है। लेकिन एयरलाइन कंपनियों ने किन कारणों के चलते यह फैसला लिया है, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है।

आईएएस अधिकारी से नेता बने जम्मू-कश्मीर पीपल्स मूवमेंट के चीफ शाह फैसल को पुलिस ने दिल्ली एयरपोर्ट से हिरासत में ले लिया। मिली जानकारी के मुताबिक शाह फैसल भारत छोड़कर तुर्की जा रहे थे। हिरासत में लिए जाने के बाद पुलिस ने शाह फैसल को एयरपोर्ट से कश्मीर भेज दिया।

उस दौरान 15 मिनट की कड़ी सुरक्षा के बीच पीएम मोदी ने जोशी व टीम के साथ लाल चौक में तिरंगा फहराया। उस घटना को अब 28 साल पूरे हो चुके हैं और आज मुरली मनोहर जोशी की टीम के सदस्य रहे मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं। जम्मू-कश्मीर में अब राज्यपाल शासन है।

बताया जा रहा है कि यह कार्रवाई पिछले 24-36 घंटों के दौरान हुई है। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की ओर से कश्मीर की शांति भंग करने की लगातार कोशिश हो रही है। पाकिस्तान फायरिंग की आड़ में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराने की फिराक में है।

उन्होंने बताया, ‘‘ पुलिस रिकार्ड के अनुसार यावर डार इलाके में अनेक आतंकवादी हमलों की योजना बनाने तथा उन्हें अंजाम देने तथा नागरिकों पर उत्पीड़न की घटनाओं में लिप्त था। वह पिछले वर्ष जैनपोरा पुलिस गार्ड पर आतंकी हमले में भी शामिल था। इस हमले में चार पुलिसकर्मी मारे गए थे।’’