srinagar

अनुच्छेद-370 की पहली वर्षगांठ यानी 5 अगस्त बुधवार को है। मिली जानकारी के अनुसार, आतंकियों और अलगाववादियों के हिंसा भड़काने की साजिशों को देखते हुए श्रीनगर में कर्फ्यू घोषित कर दिया है।

सन् 2004 की बात है। एक ऑस्ट्रेलियाई सर्फर कार्मेन ग्रीनट्री को जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के हाउसबोट में 2 महीने के लिए बंद करके रखा गया था।

भारतीय सेना को इनपुट मिले हैं कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में कई आतंकी छिपे हुए हैं। जानकारी मिलते ही सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान शुरू कर दिया है।

बुधवार को श्रीनगर जिले के बाहरी इलाके पांदच चौक में आतंकियों ने देर शाम सुरक्षाबलों पर हमला बोल दिया। इस हमले में बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गए थे।

जम्मू और कश्मीर में आतंकी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं। एक बार फिर आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर आतंकियों ने हमला किया है। इसमें बीएसएफ के दो जवान शहीद हो गए।

जम्मू-कश्मीर ने आतंकियों की नापाक हरकत लगातार जारी है। वहीं इस बीच सोमवार देर रात सुरक्षाबलों ने श्रीनगर के नवकडल इलाके में दो आतंकियों को घेर लिया था।

कोरोना वायरस का कहर बड़ता ही जा रहा है। अब कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए श्रीनगर के कई इलाकों में पाबंदियां लगा दी गई हैं।

घाटी में आए दिन आतंकी हमलों की खबरें आती रहती हैं। आंकतवादी अपनी नापाक हरकतों को अंजाम देने की कोशिश में लगे रहते हैं। लेकिन भारतीय सेना के चलते उनकी हर नापाक कोशिश नाकाम हो जाती है।

श्रीनगर के लाल चौक इलाके में आतंकवादियों ने सीआरपीएफ की टीम को निशाना बनाते हुए ग्रेनेड हमला किया। इस हमले में दो स्थानीय नागरिक और एक सीआरपीएफ जवान घायल हो गया है।