students

मनीष श्रीवास्तव लखनऊ। करीब सौ से ज्यादा युवक-युवतियां एक साथ एक ही हॉल में और हॉल में सन्नाटा। इस सन्नाटे को तोड़ती एयरकंडीशनर की मद्धिम आवाज। यह किसी फिल्म का सीन नहीं, यह है राजधानी लखनऊ के अलीगंज क्षेत्र में स्थित एक लाइब्रेरी का। जी हां, लखनऊ में ऐसी तमाम लाइब्रेरियां है, जो स्टूडेंट्स को …

डा. द्विवेदी ने कहा कि मिड-डे-मील की क्वालिटी की मानीटरिंग के लिए ’मां’ समूह का गठन किया गया है। उन्होने अधिकारियों से कहा कि मिड-डे-मील में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की जाये, इसका ध्यान रखा जाना चाहिए।

केंद्र की मोदी सरकार ने छात्रों को राहत देने के लिए बड़ा तैयारी की। 12 वींस बाद अब उन्हें अलग-अलग कॉलेजों की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। देश की सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में प्रवेश के लिए अब एक कॉमन टेस्ट होगा। इस प्रस्ताव को मानव संसाधन विकास मंत्रालय जल्द ही लागू करेगा।

बीएचयू में जंतु विज्ञान की छात्राओं पर अश्लील कमेंट करने के आरोप में निलंबित प्रोफेसर एसके चौबे को बर्खास्त करने की मांग करते हुए छात्राएं शनिवार शाम छह बजे से सिंह द्वार पर धरने पर बैठी हैं। अभी भी धरना जारी है।

प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने सिविल सेवा की प्रारम्भिक परीक्षा 2020 की तैयारी के लिए निशुल्क कोचिंग के चयनित छात्रों को कोचिंग के दौरान सभी आवश्यक सुविधायें समय से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि इस कार्य में किसी भी तरह की लापरवाही पर कड़ी कार्यवाही होगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे युवा देश और उत्तर प्रदेश सबसे युवा प्रदेश है। इन युवाओं के बूते हम उत्तर प्रदेश को सर्वोत्तम प्रदेश बना रहे हैं। ऊर्जा और प्रतिभा से भरपूर ये युवा जिंदगी के जिस क्षेत्र में जाए उसमे बुलंदी हासिल करें।

आपके संस्था का नामकरण महामना मदन मोहन मालवीय के नाम पर किया गया है। मालवीय जी चाहते थे कि बौद्धिक, आध्यात्मिक और चारित्रिक विकास विद्यार्थियों का हो।

छात्रसंघ के निवर्तमान उपाध्यक्ष हमजा सुफियान व निवर्तमान सचिव हुजैफा आमिर के निलंबन, एफआईआर व कारण बताओ नोटिस जारी किए जाने को लेकर गुरुवार को छात्रों ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में प्रदर्शन किया।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इंटीग्रेटेड एकेडमी ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नालॉजी गाजियाबाद को सत्र 2019-20 में छात्रों का प्रवेश लेने की अनुमति न देने के आदेश को मनमानापूर्ण व अवैध करार देते हुये रद्द कर दिया है।

सोशल मीडिया पर एक धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार हुई छात्रा को रांची की कोर्ट ने जमानत दी थी। साथ ही कोर्ट ने आरोपी को पवित्र कुरान की पांच प्रतियां बांटने की शर्त रखी थी।