subhash chandra bose

आजादी के नायक नेता जी सुभाष चंद्र बोस को इससे बड़ी श्रद्धांजलि कुछ और नहीं हो सकती। नेताजी के चाहने वालों ने उन्हें भगवान की कतार में लाकर खड़ा किया है। देवी देवताओं की तरह बनारस में अब नेताजी की भी पूजा होगी। सुबह-शाम आरती होगी। शंख बजेगा। देशभक्ति के तराने मंदिर में गूंजेंगे।

हजरतगंज स्थित सुभाष चौक चौराहे पर भारत की आजादी के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 123 वीं जयंती के अवसर पर चित्र पर माला चढ़ाती महापौर संयुक्ता भाटिया

सरदार वल्लभ भाई पटेल को कौन नही जानता। वल्लभ भाई पटेल ने 565 रियासतों का विलय कर भारत को एक राष्ट्र बनाया था। लेकिन उनके बड़े भाई विट्ठलभाई पटेल हम कम जानते होंगे। दोनों भाइयों में बाद के दौर में मतभेद हो गए थे।

नेताजी के मौत की गुत्थी आज भी अनसुलझी है। उनके जीवित रहने के कई साक्ष्य और बातें रूस और भारत में देखे-सुने गए हैं। लोगों का ऐसा मानना है कि नेताजी साल 1985 तक जीवित रहे हैं। वह भगवानजी के रूप में फैज़ाबाद के एक मंदिर में रहते थे।

नई दिल्ली: नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा पहली बार पोर्ट ब्लेयर में तिरंगा फहराने की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर 30 दिसंबर को 75 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया जायेगा। भारत सरकार के वित्त मंत्रालय ने इस संबंध में एक अधिसूचना जारी की है। ये भी पढ़ें- जयंती विशेष: सुभाष चंद्र बोस-भारतीयता की अनोखी पहचान …

नई दिल्ली : आजाद हिंद फौज का 75वां स्थापना दिवस नेताओं के लिए मौका बनकर सामने आया और नेताजी सुभाष चंद्र बोस को लेकर राजनीति गरम हो गई। पीएम नरेंद्र मोदी ने जहां लाल किले से कांग्रेस पर नेताजी और सरदार पटेल जैसी विभूतियों को भुलाने का आरोप लगाया तो वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते …

नई दिल्ली: स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान आजाद हिंद फौज की स्थापना करने में सुभाष चंद्र बोस के त्याग को याद करते हुए केंद्रीय संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने रविवार को यहां कहा कि बोस को आजादी के बाद से सात दशकों में वह सम्मान क्यों नहीं मिला, जिसके वह हकदार थे। शर्मा, लाल किले पर …

नोएडा विधानसभा सीट से नामांकन करने वाले प्रत्याशी विनोद पवार ने महात्मा गांधी और शहीद भगत सिंह को अपना प्रस्तावक बना दिया। यही नहीं विनोद पवार ने रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतीन को अपना बेस्ट फ्रेंड बताते हुए उनका नाम भी प्रस्तावकों की सूची में शामिल कर दिया। निर्वाचक नामावली के भाग संख्या के कॉलम में मिशन मेक इंडिया, भारतीय वसुधैव कुटुंबकम के साथ अपनी कोचिंग का पैंफलेट भी उन्होंने दस्तावेज के साथ लगाया है। 25 जनवरी को जांच के बाद उनका नामांकन रद कर दिया गया।