summer

अमेरिका और यूरोप के कई देश भीषण गर्मी से बेहाल हैं। पहली बार कई सालों बाद यूरोप के कुछ शहरों में तापमान ने वर्षों पुराने रिकॉर्ड तोड़े हैं और जर्मनी और फ्रांस में सरकार को गर्मी का अलर्ट जारी करना पड़ा है।

इन दिनों काशी में स्थित बाबा बटुक नाथ के मंदिर का नजारा कुछ अनोखा ही है। तेज गर्मी को देखते हुए भगवान के लिए मंदिर में कोल्ड ड्रिंक की बोतले रखी गयी है।

तेज चिलचिलाती धूप ने बीते कई दिनों से लोगों का हाल बेहाल कर दिया, ऐसे में मौसम विभाग ने ताजा खबरों से अवगत कराते हुए ये अनुमान लगाया है कि उत्तर प्रदेश के 16 जिलों को गर्मी से राहत मिल सकती है।

27 मई तक इस भीषण गर्मी से राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है। 28 मई की रात से पश्चिमी विक्षोभ अपना असर दिखा सकता है जिससे धूल भरी आंधी आएगी या गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश सरकार ने एक समिति गठित की है। प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है, जिसे कार्य योजना बनाकर सफलतापूर्वक लागू किया जा सकता है।

घनघोर बारिश और कड़ाके की ठंड झेलने के बाद इस बार ज्यादा गर्मी का भी सामना करना पड़ेगा। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और विदर्भ समेत पूरे मध्यभारत में इस साल मार्च से मई के बीच का औसत तापमान सामान्य से 0.5 से 1 डिग्री तक अधिक रहने का अनुमान है।

इस साल गर्मियों में आप 24 डिग्री से कम तापमान पर एसी नहीं चला सकेंगे। सभी कंपनियों के सभी तरीकों के एसी में डिफॉल्ट तापमान 24 डिग्री सेट रहेगा। ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशियंसी (BEE) के साथ मिलकर सरकार ने रूम एयर कंडीशनर्स के लिए एनर्जी परफॉरमेंस स्टैंडर्ड तय किया है।

जैसलमेर, श्रीगंगानगर, चूरू, ग्वालियर, लखनऊ, बांदा, भोपाल, अकोला, बाड़मेर और बीकानेर। इसके बाद पाकिस्तान के जैकोबाबाद का स्थान आता है, जहां तापमान 48 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

तेजधूप से बचने के लिए गोमती नदी में मस्ती करते बच्चे, देखें तस्वीरें

चिलचिलाती गर्मी पड़ रही है और रमज़ान का पाक महीना शुरू हो चुका है, लेकिन इस मौके पर रूह अफज़ा बाजार से गायब है। पिछले कई महीनों से रूह अफज़ा बाजार से गायब है।