surgical strike

कोरोना संकट से पूरी दुनिया परेशान है, तो वहीं पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए परेशान पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। अब भारतीय सेना ने पाकिस्तान को तगड़ा जवाब दिया है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पाकिस्तान में किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत देश की जनता को दें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका दौरे भारत लौट आए हैं। वह शनिवार को दिल्ली पहुंचे। पीएम मोदी का दिल्ली पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत दिल्ली के सांसदों ने एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया। हजारों समर्थक मौजूद थे।

जम्मू- कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने के बाद पाकिस्तान पूरी तरह से बौखलाया हुआ है। वह दुनिया भर में प्रोपोगैंडा विडियो बनाकर भारत की छवि को खराब करना चाहता है। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी उसे मुंह की खानी पड़ रही है।

पाकिस्तान की एयर स्पेस करतूत का सबक मोदी सरकार ने बहुत अच्छे से दिया हैं। भारतीय एयरलाइंस के लिए अपना एयर स्पेस न खोलने पाकिस्तान पर मोदी सरकार ने एक बड़ा प्रतिबंध लगा दिया है। इस प्रतिबंध के बाद पाकिस्तान के आर्थिक हालात और भी बद से बदतर हो जायेंगे।

उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली अटल बिहारी वाजपेयी की पिछली राजग सरकार के तहत की गई दो सर्जिकल की भी सूची जारी की। ये सर्जिकल स्ट्राइक नादला एन्क्लेव, नीलम नदी के पार (21 जनवरी, 2000) और पुंछ में बरोह सेक्टर (18 सितंबर, 2003) हैं।

भारतीय वायुसेना और डीआरडीओ अगले सप्ताह ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का हवा से लॉन्च करने वाले वर्जन का परीक्षण करने की तैयारी कर रही हैं। इस मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद भारत बालाकोट जैसे एयर स्ट्राइक देश में बने हथियारों की मदद से ही कर सकता है।

राजनीतिक फायदों के लिए सेना के दुरुपयोग के आरोपों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि ‘एक वोट’ की ताकत से पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक संभव हुए।

प्रड्यूसर-डायरेक्टर संजय लीला भंसाली, भूषण कुमार, महावीर जैन और अभिषेक कपूर 26 फरवरी को बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक पर फिल्म बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

सर्जिकल स्ट्राइक को दो साल पूरे हो चुके है। मगर इस मुद्दे पर अब लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) डी एस हुड्डा ने एक बयान दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक की ख़ुशी तो स्वाभाविक है लेकिन इसको लेकर अब इसका प्रचार करना अनुचित है।