surya pratap shahi

प्रदेश में टिड्डी दलों के प्रकोप से हुए नुकसान एवं उन पर नियंत्रण के लिए टिड्डी दलों के प्रवास वाले जनपदों में भ्रमण करने को कहा है। इसके लिए कहा गया है कि टिड्डी दलों पर नियंत्रण कार्य में सभी संबंधित विभागों को सहयोग संबंधी औपचारिक आदेश जारी किए जाएं।

कोरोना संकट के बीच परेशान यूपी के किसानों के लिए अच्छी खबर है। यूपी की योगी सरकार ने रबी की वर्ष 2021-22 की छह फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाने की संस्तुति करके भारत सरकार को भेजने पर सहमति दे दी है।

उत्तर प्रदेश के कृषिमंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बताया है कि खेत से बीज लेकर बाजार तक उपलब्ध कराने की पूरी व्यवस्था कृषि उत्पादक संगठन के माध्यम से ही की जाएगी।

कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने टिड्डी दल के प्रकोप की आशंका को देखते हुए उनके नियंत्रण के लिए जनपदीय अधिकारियों को लोकस्ट वार्निंग आर्गनाइजेशन की तकनीकी टीम व क्षेत्रीय निवासियों व कृषकों से निरन्तर समन्वय बनाये रखने के निर्देश दिये हैं।

प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि रबी फसलों की कटाई के कार्य समय से पूरे कर लिये जाए, जिससे वर्षा की वजह से कटाई में किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो। शाही ने वर्षा, ओलावृष्टि, आंधी आदि से हुई क्षति के बारे में अधिकारियों से जनपदवार जानकारी ली।

कृषि मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के 18 मण्डल मुख्यालयों को मॉडल जनपद के रूप में विकसित किया जाना है। उन्होंने कहा कि इन जनपदों की स्थानीय कृषि उत्पादों के आधार पर ब्राण्डिंग की जाए। इससे जहां एक ओर बाजार स्वयं किसान के दरवाजे पर पहुंचेगा, वहीं दूसरी ओर उसकी आय में भी वृद्धि संभव होगी। श्री शाही ने कहा कि इस कार्य क्रम का मुख्य उद्देश्य कृषि क्षेत्र के विकास के साथ-साथ किसानों की आय में वृद्धि करना है।

देश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि हमारे प्रदेश में खरीफ मौसम में बोये जाने वाली मक्का के क्षेत्रफल का आच्छादन सबसे अधिक है, लेकिन इसकी उत्पादकता रबी मौसम में बोऐ जाने वाली मक्का से कम है।

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि नाबार्ड पिछले तीन दशकों से उत्तर प्रदेश में कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों के विकास में वित्तीय और विकासपरक सहायता के माध्यम से महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि नाबार्ड गैर कृषि क्षेत्र में भी कार्य कर रहा है।

सूर्य प्रताप शाही का कहना था कि यह पुरे प्रदेश में किसानो को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है । इस में दस लाख किसानो की पाठशाला चलाई जा रही है। इसमें किसानो को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है।