Talk to Pakistan

पाकिस्तान के नेताओं की यह पहल दो घटनाओं के बीच हो रही है। एक तो अंतरराष्ट्रीय वित्तीय एजेंसी द्वारा पाकिस्तान को भूरी सूची में उतार दिया गया है, आतंक के कारण और दूसरा भारत द्वारा दक्षेस (सार्क) की जगह अब ‘बिम्सटेक’ (पूर्वी पड़ौसियों) पर अपना ध्यान टिकाने के कारण।