teacher

इस वजह से यहां भ्रष्ट एवं कामान्ध शिक्षकों के हौसले बुलंद है । शिक्षिकाओं की मजबूरी का फायदा उठाकर शिक्षा मंदिर में ही अश्लील हरकतों को अंजाम दे रहे हैं।

जिले के नौरंगा ग्राम में एक उच्च प्राथमिक विद्यालय के विज्ञान के शिक्षक द्वारा जिलाधिकारी एच पी शाही के भिन्न से सम्बंधित एक सवाल का जबाब नही दे पाने के मामले को जिला प्रशासन ने गम्भीरता से लिया है ।

उच्च प्राथमिक विद्यालय के विज्ञान के शिक्षक जिलाधिकारी एच पी शाही के भिन्न से सम्बंधित एक सवाल का जबाब नही दे सके। इस सवाल को कक्षा 6 के एक छात्र ने दस सेकेंड में हल कर दिया।

पुलिस उपाधीक्षक हरियावां नागेश मिश्रा को बुखार, खांसी तथा सांस लेने में समस्या होने पर हरदोई के निजी अस्पताल से उपचार कराया गया था।

परिषदीय स्कूलों में कई शिक्षक फर्जी डिग्रियों के सहारे नौकरी हासिल करने में कामयाब हो गए हैं। जांच के बाद विभिन्न जनपदों में शिक्षकों को बर्खास्त भी किया गया है।

यूपी के 25 जिलों में फर्जी ढंग से नौकरी करने वाली शिक्षिका अनामिका शुक्ला को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में साइंस टीचर के पद पर कार्यरत शिक्षिका को बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बर्खास्त कर दिया है।

उत्तर प्रदेश से स्कूल में नौकरी करने वाली शिक्षिका का एक नया वाकया सामने आया है। यूपी के 25 स्कूलों में फर्जी ढ़ंग से नौकरी करने का मामला है। इस शिक्षिका का नाम अनामिका शुक्ला है।

आठ काउंटर पर 15 कर्मचारी कांउसिंलिंग कर रहे थे। वहीं जिले के समस्त 15 खंड शिक्षा अधिकारियों को भी पारदर्शिता और प्रापत्र जांचने के लिए लगाए गए थे। सारी प्रक्रिया चल रही थी लेकिन इसी बीच काउंसिंलिंग पर रोक लगाए जाने का आदेश आते ही प्रक्रिया रोक दी गई है। अब हम अगले आदेश का इंतजार करेंगे।

शिक्षक जो अपने छात्रों के जीवन में एक महत्वपूर्ण परिवर्तन लाते हैं- वह छात्रों को जीवन में कभी-कभी आने वाली बाधाओं के खिलाफ-जश्न मनाने के लायक बनाते हैं। वैसे देश में शिक्षक तो लाखों की संख्या में हैं, लेकिन इन्हीं में कुछ ऐसे विरले भी हैं, जो अपनी अनोखी शिक्षण शैली के कारण प्रसिद्ध हो जाते हैं।

स्कूल में हम लोग 25 रूपये से डेढ़ सौ रूपये प्रतिमाह की फीस लेकर विद्यालय चलाते हैं, जिसमें से कुछ बच्चों की शुल्क बाकी ही रहता है। फिर भी हम लोग अपना जीवन यापन करने के लिए पढ़े लिखे व्यक्तियों को स्कूल में अध्यापक नियुक्त कर उन्हें तीन से पॉच हजार रुपए प्रतिमाह पारिश्रमिक देते हैं।